सास ने ऐसा किया काम की बहू को छोडऩा पड़ा घर

babanrao pathe

Publish: Jan, 14 2018 11:24:07 AM (IST) | Updated: Jan, 14 2018 05:02:32 PM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
सास ने ऐसा किया काम की बहू को छोडऩा पड़ा घर

शनिवार को सास, बहू और बेटा सुनवाई के लिए काउंसलर्स के समक्ष उपस्थित हुए। काउंसलर्स की समझाइश के बाद बात समझौते तक पहुंची।

छिंदवाड़ा. मां और पत्नी के बीच मामूली बात को लेकर विवाद शुरू हुआ। विवाद की वजह भी एेसी जिसे सुनकर किसी को भी भरोसा नहीं हो सकता। समझाइश पर बात नहीं बनी तो मजबूरी में पति ने शहर में किराए से मकान लिया और उसमें पत्नी के साथ रहने लगा। महिला ने परिवार परामर्श केंद्र में सुनवाई के लिए आवेदन दिया। शनिवार को सास, बहू और बेटा सुनवाई के लिए काउंसलर्स के समक्ष उपस्थित हुए। काउंसलर्स की समझाइश के बाद बात समझौते तक पहुंची।

जानकारी के अनुसार करीब छह साल पहले कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाली युवती की नवेगांव थाना क्षेत्र में रहने वाले युवक से सामाजिक रीति-रिवाज से शादी हुई थी। युवक ६० एकड़ जमीन का मालिक है। कुछ समय तक सबकुछ ठीक-ठाक रहा। पिछले कुछ साल से सास ने बहू को नहाने से मना कर दिया। बहू नहाने के लिए जाती तो उसे रोक देती। दोनों के बीच इसी बात को लेकर विवाद शुरू हो गया। पत्नी की जिद के कारण युवक ने शहर में किराए से एक मकान लिया और दोनों वहीं रहने लगे। सास के खिलाफ बहू ने परिवार परामर्श केंद्र में आवेदन दिया, प्रकरण में शनिवार को दोनों पक्षकों को सुनवाई के लिए बुलाया गया। सास और बहू को परामर्श केंद्र के सदस्यों ने समझाइश दी, जिसके बाद वे साथ रहने को तैयार हुए।

एक अन्य मामला यह भी सामने आया कि साल २०१७ मई में महिला के पति की मौत हो गई। उनकी दो संतान हैं। चार साल की बेटी और ढाई साल का बेटा। पति की मौत के बाद महिला मायके में रहने लगी। ससुराल वालों ने बेटी को अपने पास रख लिया। महिला ने सुनवाई के लिए परिवार परामर्श केंद्र में आवेदन दिया। महिला ने मांग की है कि उसे उसकी बेटी और दहेज की सामग्री लौटाई जाए। इस प्रकरण में भी बात समझौते तक पहुंच चुकी है। शनिवार को सुनवाई के लिए १० प्रकरण रखे थे। तीन में समझौता हुआ और दो में कोर्ट जाने की सलाह दी गई।

Ad Block is Banned