Scam in PM House: 550 हितग्राहियों को एक साथ दे दी तीन किस्त, एफआइआर के आदेश

Scam in Prime Minister's House: नए आयुक्त ने पकड़ी हितग्राही व कर्मचारी की गड़बड़ी, निगरानी एजेंसी के बावजूद रखे छह कर्मचारी

By: prabha shankar

Published: 01 Jul 2020, 05:03 PM IST

छिंदवाड़ा/ प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के बीएलसी घटक में एक बड़ा घोटाला सामने आया है। तत्कालीन नगर निगम आयुक्त इच्छित गढ़पाले के समय करीब 550 बीएलसी हितग्राहियों को एकमुश्त 2.50 लाख रुपए दे दिए गए और ज्यादातर मकान का निर्माण भी पूरा नहीं कर पाए। इसके साथ ही निगरानी एजेंसी एजिस के होने के बावजूद छह कर्मचारी अलग रखे गए।
इस गड़बड़ी को मंगलवार को निरीक्षण के दौरान निगम आयुक्त हिमांशु सिंह ने पकड़ा। उन्होंने एक मामले में पाया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के बीएलसी घटक अंतर्गत हितग्राही गायत्री पति भुवनलाल माहोरे द्वारा 2.50 लाख रुपए लेकर आज तक निर्माण नहीं किया गया। नगर निगम द्वारा हितग्राही को तीन नोटिस जारी किए गए। परंतु हितग्राही गायत्री ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके अलावा कर्मचारी पवन गयाने ने गलत जियो टैगिंग की। इस पर आयुक्त ने तत्काल हितग्राही एवं कर्मचारी पवन गयाने की प्राथमिकी रिपोर्ट पुलिस थाने में दर्ज कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही निगम कार्यालय में निगरानी एजेंसी के अलावा नियुक्त छह कर्मचारियों को हटाने के लिए भी कहा। फिलहाल इस कार्रवाई से हडक़म्प मच गया है।

साढ़े तीन करोड़ की राशि का एकमुश्त भुगतान
बीएलसी घटक में केवल गायत्री माहोरे को ही एकमुश्त भुगतान नहीं किया गया बल्कि ऐसे 550 हितग्राही बताए गए हैं, जिन्हें साढ़े तीन करोड़ रुपए की राशि का भुगतान होना बताया गया है। नियमानुसार बीएलसी के एक हितग्राही को पहली किस्त एक लाख, दूसरी एक लाख और अंतिम किश्त 50 हजार रुपए की दी जाती है। इनमें निर्माण कार्य के अलग-अलग चरण तय है। इन प्रकरणों में एकमुश्त राशि का भुगतान किया गया और ज्यादातर का मकान निर्माण भी पूरा नहीं हो पाया।

निगम कर्मचारियों की मिलीभगत का संदेह: नगर निगम में बीएलसी मकानों का निर्माण करीब दस हजार की संखया में किया गया है। हाल ही में पांचवे और छटवें बैच के 15 सौ से ज्यादा मकानों के लिए 34 करोड़ रुपए शासन द्वारा दिए गए। इस पूरे मामले में चहेतों को एकमुश्त किश्त का भुगतान बिना अधिकारी-कर्मचारियों की मिलीभगत से संभव नहीं है। ऐसे में संदेह की सुई पूरे सिस्टम पर उठ रही है।

Show More
prabha shankar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned