छात्रवृत्ति स्वीकृति-प्रोफाइल अपडेटशन गंभीर नहीं जिम्मेदार, जानें वजह

- शासन की मंशा पर फिर सकता हैं पानी, 24 को मुख्यमंत्री छात्रों के खातों में करेंगे जमा

By: Dinesh Sahu

Updated: 21 Feb 2021, 05:31 PM IST

छिंदवाड़ा/ सत्र 2020-21 के तहत जिले की समस्त शासकीय-अशासकीय विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा नवमीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों के शत-प्रतिशत नामांकन, प्रोफाइल अपडेशन और हितग्राही छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति स्वीकृति कर शिक्षा पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज करने के निर्देश दिए गए थे। लेकिन जिम्मेदारों द्वारा शासन के निर्देशों को गंभीरता से नहीं लिया गया और अब तक जिले में उक्त कार्य शत-प्रतिशत नहीं हो सका है।

ऐसे में 24 फरवरी को मुख्यमंत्री द्वारा सिंगल क्लिक कार्यक्रम के तहत छात्र-छात्राओं के बैंक खाते में राशि अंतरित करने की योजना पर पानी फिर सकता हैं। मामले में मप्र लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने नाराजगी जाहिर की है तथा जिला शिक्षा अधिकारी और डीपीसी को 22 फरवरी 2021 तक उक्त कार्यों को शत-प्रतिशत पूरा करने के निर्देश दिए हैं।


बताया जाता है कि शासन द्वारा उक्त मामलों को 15 फरवरी 2021 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए गए थे, पर 13 फरवरी को आयोजित वेबीनार में कक्षा एक से बारहवीं तक समस्त विद्यार्थियों का नामांकन, प्रोफाइल अपडेशन एवं स्वीकृति 18 फरवरी तक पूर्ण किए जाने के निर्देश जारी किए गए। इसके बावजूद छिंदवाड़ा समेत प्रदेश में 1.42 करोड़ विद्यार्थियों की तुलना में केवल 1.38 करोड़ विद्यार्थियों को नामांकन, 21.66 लाख विद्यार्थियों को प्रोफाइल अपडेशन तथा मात्र 57 हजार बच्चों की छात्रवृत्ति स्वीकृत की गई हैं।


बंद हो जाएगा पोर्टल -


शासन ने शिक्षा अधिकारियों को चेतावनी दी है कि 22 फरवरी तक कक्षा नवमीं से बारहवीं तक के सभी विद्यार्थियों का प्रोफाइल अपडेट कर शत-प्रतिशत छात्रवृत्ति स्वीकृति सुनिश्चित किया जाएं तथा उक्त तिथि के बाद उक्त कार्य के लिए शिक्षा पोर्टल को बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद सिर्फ कक्षा पहली से आठवीं तक विद्यार्थियों के लिए ही पोर्टल खुला रहेगा।


यह है जिले की स्थिति -


1. जिले में कुल छात्रों के नामांकन की संख्या - 393317


2. विद्यार्थियों की संख्या, जिनकी प्रोफाइल अपडेट हो चुकी हैं - 125864


3. छात्रवृत्ति के लिए हितग्राही छात्र-छात्राओं की संख्या - 92800


4. अब तक विद्यार्थियों को स्वीकृत की गई छात्रवृत्ति की संख्या - 1608

Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned