School Bus: बेलगाम रफ्तार, कहीं खतरे में तो नहीं आपके नौनिहाल की जिंदगी

School Bus: बेलगाम रफ्तार, कहीं खतरे में तो नहीं आपके नौनिहाल की जिंदगी
बच्चों की सुरक्षा के लिए जरूर पढ़ें यह खबर, वरना आपके साथ भी हो सकता है ऐसा

Prabha Shankar Giri | Updated: 11 Oct 2019, 10:55:01 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

School Bus: एआरटीओ ने जारी की थी गाइडलाइन, नहीं हो रहा पालन, जिले में पंजीकृत हैं 360 स्कूल बसें

छिंदवाड़ा/ जिले में नियमों को ताक पर रखकर स्कूल बसों का संचालन किया जा रहा है। हैरानी की बात यह है कि टाइम मेंटेन करने केचक्कर में नौनिहालों की जिंदगी भी खतरे में डाली जा रही है। चालक बेपरवाह एवं बेलगाम होकर बस चला रहे हैं। यही नहीं बस के साथही कुछ स्कूल वैन चालक भी नियमों से बेपरवाह हैं। अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने जो गाइडलाइन जारी की थी, उसमें से एक-दो बिंदुओं को छोडकऱ अधिकतर बिंदु पर पालन भी नहीं हो रहा है।
गौरतलब है कि जिला शिक्षा विभाग, ट्रैफिक पुलिस एवं अतिरिक्त जिला परिवहन कार्यालय छिंदवाड़ा से कई बार स्कूल संचालकों को नियम के पालन के लिए गाइडलाइन जारी की जाती है। इसके बावजूद एक-दो संचालकों को छोडकऱ ज्यादातर बेपरवाह हो जाते हैं। ऐसे में कभी भी अनहोनी की आशंका बनी रहती है।


इन बिंदुओं पर एआरटीओ ने पालन करने के दिए हैं निर्देश
1. स्कूल बस पीले रंग में होनी चाहिए। बसों पर स्कूल बस पीछे एवं आगे लिखा होना चाहिए, अगर अनुबंधित बस हो तो उसमें ऑन स्कूल ड्यूटी लिखा होना चाहिए।
2. बस में फस्र्ट एड बॉक्स की सुविधा एवं बस में गति मापी यंत्र लगा होना चाहिए। इसके अलावा बस में अग्नि समन यंत्र की सुविधा होनी चाहिए। बस में प्रदूषण प्रमाण-पत्र होना अनिवार्य है।
3. स्कूल बस को परमिट, फिटनेस लेना अनिवार्य है एवं वैध बीमा होना आवश्यक है। बस की खिडक़ी पर सरिए की जाली होनी चाहिए। बस पर स्कूल का नाम व दूरभाष लिखा होना चाहिए। बस में दरवाजे पर लगे ताले ठीक स्थिति में होने चाहिए।
4. बस में शिक्षित व प्रशिक्षित परिचालक, किसी भी शिक्षक या पालक को बस में सुरक्षा की दृष्टि से जाने की सुविधा होनी चाहिए।
5. चालक के पास कम से कम पांच वर्ष का वाहन चलाने का लाइसेंस होना चाहिए। सीट के नीचे बस्तों की सुरक्षा के लिए अलग स्थान होना चाहिए।
6. चालक ऐसा होना चाहिए जिस पर लालबत्ती तोडऩे के जुर्म में एकाधिक बार चालानी कार्यवाही न की गई हो। महिला सहायक भी बस में रहे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned