ऐप पर उपस्थिति नहीं तो शिक्षकों के साथ होगी ऐसी कार्यवाही, पढ़ें पूरी खबर

स्कूल शिक्षा विभाग ‘एम-शिक्षा मित्र’ के प्रभावी क्रियान्वयन को लेकर सख्त हो गया है।

By: ashish mishra

Published: 07 Jun 2018, 11:49 AM IST


छिंदवाड़ा. स्कूल शिक्षा विभाग ‘एम-शिक्षा मित्र’ के प्रभावी क्रियान्वयन को लेकर सख्त हो गया है। बुधवार को जिला शिक्षा अधिकारी आरएस बघेल ने समस्त बीईओ, आहरण संवितरण अधिकारी, संकुल प्राचार्य, प्राचार्य, प्रधान पाठक सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी एवं शिक्षकों को निर्देश दिए हैं। कहा गया है कि मोबाइल गवर्नेंस प्लेटफॉर्म ‘एम-शिक्षा मित्र’ मोबाइल ऐप का उपयोग कार्यालयों और विद्यालय में समस्त अधिकारियों, शिक्षकों एवं कर्मचारियों द्वारा किया जाना अनिवार्य है। मोबाइल ऐप में दर्ज उपस्थिति के आधार पर ही सभी का जून माह का वेतन आहरित किया जाएगा। साथ ही निर्देशों का पालन न करने वाले अधिकारी, शिक्षक एवं कर्मचारियों के विरुद्ध अुनशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। गौरतलब है कि १४ मई को उच्च अधिकारियों की उपस्थिति में स्कूल शिक्षा विभाग की विडियो कॉन्फ्रेंसिग आयोजित की गई थी। इसमें ऐप के प्रभावी क्रियान्वयन का कार्य पांच जून तक पूर्ण करने, नए सत्र में सभी शिक्षक की उपस्थित ऐप में दर्ज करने के निर्देश दिया गया है। यह भी कहा गया है कि शिक्षक जहां कार्य कर रहा है उसकी उपस्थिति उसी स्थान पर दर्ज की जाएगी। शिक्षक विहीन शालाओं में जहां शिक्षक अन्य शालाओं में कार्य करने के लिए पदस्थ किए गए हैं उनकी उपस्थिति भी वहीं से दर्ज होगी। इसके अलावा जिन क्षेत्रों में नेटवर्क नहीं है उनकी उपस्थिति नेटवर्क में आते ही लग जाएगी।

शिक्षिका की सेवा पुस्तिका नहीं भेजने पर डीईओ ने रोका वेतन
जिला शिक्षा अधिकारी ने सेवानिवृत्त शिक्षिका उर्मिला दुबे के प्रकरण के सम्बंध में सम्बंधित अधिकारियों का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि प्रकरण सीएम हेल्पलाइन में लम्बित है। जिला शिक्षा विभाग ने शासकीय उमावि वीजावाड़ा प्राचार्य केसी उइके एवं सहा. ग्रेड टू अधिकारी सुनील निर्मलकर को निर्देशित किया था कि सेवानिवृत्त सहायक शिक्षक की मूल सेवा पुस्तिका जिला कोषालय छिंदवाड़ा से प्राप्त कर सम्बंधित का प्रकरण तत्काल निराकरण कर पालन प्रतिवेदन कार्यालय को भेजें। इसके अलावा सम्बंधित को भी अवगत कराएं। इसके बावजूद भी वर्तमान तिथि तक जानकारी प्रस्तुत नहीं की गई। जिला शिक्षा अधिकारी ने दोनों अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि जब तक मूल सेवा पुस्तिका डीईओ कार्यालय में प्रस्तुत नहीं की जाती तब तक आपका जून माह 2018 पेड इन जुलाई 2018 का वेतन आहरित नहीं किया जाएगा।

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned