कोरोना पॉजिटिव के परिवार और मरीजों की स्क्रीनिंग

22 मई को चेन्नई से पहुंचे ग्रामीणों के कोराना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जिला प्रशासन सतर्क हो गया।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 30 May 2020, 06:07 PM IST

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना. 22 मई को चेन्नई से पहुंचे ग्रामीणों के कोराना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जिला प्रशासन सतर्क हो गया। शुक्रवार सुबह कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन और एसपी विवेक अग्रवाल ने स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ग्राम पंचायत छाबड़ी के क्वॉरंटीन सेंटर जहां युवक को रखा गया था का निरीक्षण किया। इसी तरह ग्राम उत्तमडेरा युवक के निवास ग्राम का दौरा कर स्वास्थ्य की जानकारी ली।
इस दौरान एसडीएम सीपी पटेल और बीएमओ डॉ. अशोक भगत ने उपस्थित रहकर जानकारी से अवगत कराया। अधिकारियों ने सतर्कता के साथ गांव वालों पर नजर बनाएं रखने और संदिग्ध मरीज मिलते ही जिला अस्पताल में रैफर करने के निर्देश दिए है। इससे पहले गुरुवार रात को पॉजिटिव रिपोर्ट आने की जानकारी मिलते ही एसडीएम सीपी पटेल, एसडीओपी रणविजय सिंह, बीएमओ डॉ. अशोक भगत ने देर रात को मरीजों के परिवार सहित क्वॉरंटीन सेंटर में उसके साथ रहने वाले लोगों को आईसोलेट किया। रात 3 बजे अधिकारी गांव से लौटे।
उत्तमडेरा का रहने वाला मरीज 22 मई को चेन्नई से लौटा था। उसके साथी बैतूल में कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद उसने जानकारी दी थी जिसके बाद युवक को 26 मई को जिला अस्पताल रैफर कर कोरोना जंाच करवाई गई।
बीएमओ डॉ. अशोक भगत ने बताया कि ग्राम उत्तमडेरा और ग्राम छाबड़ी के ग्रामीणों की स्क्रीनिंग की गई है। डॉ. एच आर मलारिया के मार्गदर्शन में सुपरवाईजर, एएनएम, आशा कार्यकर्ता, अंागनबाड़ी कार्यकर्ता ने गांव के सभी सर्दी, जुकाम, बुखार वाले मरीजों को ढूंढा। बीएमओ ने बताया कि गांव में पूरी तरह से स्थिति नियंत्रण में है। डॉ. भगत ने बताया कि कोरोना से लडऩे के लिये स्वास्थ्य विभाग को और जरुरी सामान दिया है। इनमें 10 पीपीई किट, एन-90 मास्क, थर्मल स्क्रीनिंग की 10 मशीनें, पल्स ऑक्सी मीटर 10 जिससे मरीजों को ढूंढने में सतर्कता बरती जाएगी।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned