सेपरेट चिकित्सा सेवाओं पर लगा 'लाकडाउन', जानें वजह

- अभी कुछ दिन और करना होगा इंतजार

By: Dinesh Sahu

Updated: 02 Aug 2020, 01:16 PM IST

छिंदवाड़ा/ छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस से सम्बद्ध जिला अस्पताल में 1 अगस्त 2020 से मेडिकल कॉलेज तथा जिला अस्पताल के डॉक्टरों की ओपीडी, आइपीडी तथा इमरजेंसी समेत अन्य व्यवस्थाओं को लागू किए जाने का निर्णय जिला प्रशासन द्वारा लिया गया था। लेकिन कोविड-19 संक्रमण के बढऩे की वजह से लगाए गए लॉकडाउन और शासकीय अवकाश की वजह से नवीन व्यवस्थाएं बन नहीं सकी है।


यह किए जाने है बदलाव -


जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों के कार्यों की समीक्षा और सेवाओं की मॉनिटरिंग, मरीजों का पर्याप्त उपचार आदि सेवाओं के लिए सेपरेट व्यवस्थाएं बनाई जानी है। इसके लिए 217 बेड मेडिकल कालेज एवं 217 बेड जिला अस्पताल के लिए तय किए गएहै। साथ ही 262 बेड कोरोना के मरीजों के लिए आरक्षित रहेंगे।


धीरे-धीरे बनेगी व्यवस्थाएं -


1 अगस्त से बदलाव का लिया गया था निर्णय, पर लाकडाउन होने से थोड़ा समय लग सकता है। डिप्टी कलेक्टर और ज्वाइंट कलेक्टर मामले की निगरानी कर रहे है तथा शीघ्र ही व्यवस्थाएं बना दी जाएगी।


- सौरभ कुमार सुमन, कलेक्टर

COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned