सोशल मीडिया ने परिवार में खड़ी कर दी विवाद की दीवार

सोशल मीडिया के कारण एक परिवार में विवाद की दीवार खड़ी हो गई है। पति जिले के एक थाना में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर पदस्थ है

छिंदवाड़ा. सोशल मीडिया के कारण एक परिवार में विवाद की दीवार खड़ी हो गई है। पति जिले के एक थाना में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर पदस्थ है, उसकी पत्नी सोशल मीडिया पर सक्रिय रहती है जिसके कारण पति नाराज रहता है। दोनों के बीच काफी समय से विवाद चल रहा था, घर में दोनों के बीच सुलह नहीं हुआ तो मामला परिवार परामर्श केन्द्र पहुंच गया। समझाइश के बाद भी समझौता नहीं हो पाया, इसीलिए प्रकरण में अगली सुनवाई दी गई है।

शनिवार को परिवार परामर्श केन्द्र में सुनवाई के लिए रखे गए प्रकरणों में एक प्रकरण सोशल मीडिया से जुड़ा हुआ भी सामने आया। सोशल मीडिया पर आने वाले आपत्तिजनक संदेश पति ने पढ़े तो उसे गुस्सा आया और विवाद शुरू हो गया। पति का कहना है कि पत्नी सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करें। काउंसलरों की समझाइश के बाद महिला ने सोशल मीडिया से दूर रहने पर राजी हुई जिसके बाद दोनों में समझौता हो गया। एक प्रकरण चांदामेटा थाना क्षेत्र का है पति पेशे से ठेकेदार है और पत्नी नौकरी करती है। पति का कहना है कि पत्नी नौकरी छोड़ेगी तब ही वह उसके साथ रहेगा, वहीं पत्नी का कहना है कि पति इतनी कमाई करे जिसस परिवार का भरण पोषण आसानी से हो जाए तो वह नौकरी छोड़ देगी। पत्नी नौकरी छोडऩे को तैयार नहीं है जिसके चलते इस मामले में समझौता नहीं हो पाया।

आरक्षक के विवाद में समझौता

पुलिस आरक्षक और उसकी पत्नी के बीच चले विवाद में शनिवार को समझौते की स्थिति बन गई। पहली पत्नी से दो बच्चे होने के बाद आरक्षक की पत्नी का देहांत हो गया, उसने बच्चों की अच्छी परवरिश होगी यह सोचकर से शादी कर ली, जिससे एक बेटी है। शादी को करीब 21 साल हो चुके हैं और दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया। समझाइश के बाद मामला सुलझ गया। सुनवाई काउंसलर नीलू यादव, खि•ार अहमद, छाया गौतम और नर्मदा अवस्थी ने की।

 

Show More
babanrao pathe
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned