scriptSomewhere there is a crisis on the health of the newborn babies | कहीं नौनिहाल शिशुओं के स्वास्थ्य पर संकट तो कहीं प्रशासन की साख पर बट्टा | Patrika News

कहीं नौनिहाल शिशुओं के स्वास्थ्य पर संकट तो कहीं प्रशासन की साख पर बट्टा

पखवाड़ेभर स्वच्छ सर्वेक्षण की होती रही मशक्कत, सर्वेक्षण टीम के जाते ही उफना गईं नालियां

छिंदवाड़ा

Published: April 23, 2022 11:01:36 am

छिंदवाड़ा। बीते एक पखवाड़े से शहर पूरी तरह चकाचक था। रात्रिकालीन सफाई लगातार चल रही थी। नालियां साफ हो रही थीं। कचरा दिखते ही साफ किया जा रहा था। इसकी वजह शहर में एक नहीं तीन-तीन स्वच्छता टीमों की मौजूदगी थी। दो दिन पहले ही तीनों टीमों ने शहर से रवानगी ली और शहर में नालियां उफनाने लगीं। यानी फिर व्यवस्थाओं में ढील दी जाने लगी।

chhindwara
chhindwara

ठेका सफाई कर्मचारियों को नहीं सरोकार
शुक्रवार को जिला अस्पताल के गायनिकी वार्ड के सामने नालियों से गंदा पानी निकलकर सडक़ पर बह रहा था, लेकिन यहां सफाई के लिए तैनात ठेकाकर्मियों को इससे सरोकार नहीं है। भले ही यह गंदगी जन्म लेने वाले शिशुओं के लिए नुकसान का कारण ही क्यों न बन जाए।

कार्यालय तक पहुंची नाली की गंदगी
वहीं कलेक्ट्रेट परिसर में जाम नाली से गंदा पानी निकलकर सडक़ पर बहने लगा। यह गंदगी कलेक्ट्रेट पहुंचने वाले लोगों के जूते-चप्पल के जरिए कार्यालय तक पहुंच गई। जिला पंचायत, खनिज विभाग, डीपीसी कार्यालय सहित कई विभाग के अधिकारी इसी रास्ते से होकर गुजरते हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण की तीन-तीन टीमों ने किया शहर का मुआयना
15 दिनों से शहर में स्वच्छता की परीक्षा जारी थी। इस दौरान गारबेज फ्री सिटी टीम के दर्जनभर अधिकारियों ने शहर में वार्डवार सर्वेक्षण किया। इसी बीच एक दिन के लिए ओडीएफ डबल प्लस की टीम ने भी दस्तक दी। इस टीम ने सार्वजनिक शौचालयों की व्यवस्थाओं का मुआयना किया। जीएफसी की टीम ने अभी अपना काम भी नहीं समाप्त किया था कि स्वच्छ सर्वेक्षण रैंकिंग 2022 की टीम ने भी अपनी आमद दे दी। इस टीम ने छह दिनों तक सर्वे किया, ताकि शहर की रैंकिंग तय हो सके।


इनका कहना है
तीनों टीमें बुधवार की शाम तक रवाना हो गईं। जीएफसी की टीम की रिपोर्ट से स्टार रैंक, ओडीएफ की टीम से ओडीएफ नवीनीकरण के प्रमाणपत्र एवं स्वच्छ सर्वेक्षण की टीम से देशभर में स्वच्छता के लिए 2022में शहर की रैंकिंग तय होगी।
आरएस बाथम, सहायक आयुक्त, निगम निगम

कलेक्ट्रेट परिसर की नाली में पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं है, लेकिन जल्द ही उसे दूसरी नाली से जोडऩे की व्यवस्था बनाएंगे। जिला अस्पताल के साफ-सफाई की जिम्मेदारी अस्पताल परिसर के सफाई ठेकेदार पर है।
अनिल मालवी, प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

पेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलानArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दलंदन में राहुल गांधी के दिए बयान पर BJP हमलावर, बोली- 1984 से केरोसिन लेकर घूम रही कांग्रेसThailand Open 2022: सेमीफाइनल मुक़ाबले में ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट से हारीं सिंधु, टूर्नामेंट से हुई बाहरपैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट क्यों दिया?Rajiv Gandhi 31st Death Anniversary: अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया, Tweet डिलीट कर देनी पड़ रही सफाई, FIR तक पहुंची बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.