प्रभारी सीएमओ के भरोसे सौंसर नपा

राजनीतिक उठापटक की वजह

By: sunil lakhera

Updated: 06 Jan 2020, 04:42 PM IST

सौंसर. सौंसर विधानसभा की सबसे बड़ी नगर पालिका परिषद में लंबे समय से स्थाई सीएमओ नहीं होने से लोगों के आवश्यक कामों की फाइलें अटकी पड़ी हैं। पिछले वर्ष नवंबर माह से लेकर अब तक स्थाई सीएमओ नगरपालिका में प्रशासनिक कार्य सुचारू नहीं चल रहे हैं। नगर पालिका परिषद सौंसर में सीएमओ को लेकर राजनीतिक उठापटक की वजह भी इसमें एक बताई जा रही है।
जानकारी के अनुसार पिछले वर्ष नवंबर माह के पूर्व स्थाई सीएमओ विनोद कुमार प्रजापति सौंसर सीएमओ नियुक्त किए गए थे। परंतु राजनीति हस्तक्षे के चलते सौंसर नगर पालिका से चले गए। तब से लेकर अब तक प्रभारी सीएमओ के रूप में ही कार्य चल रहा है। ज्ञात हो कि स्थाई सीएमओ प्रजापति के पुर्व भी अस्थाई सीएमओ के तौर पर प्रभारी सीएमओ ही काम संभाल रहे थे।
गौरतलब है कि क्षेत्र की सबसे बड़ी नगर पालिका परिषद होने के बावजूद भी नगर पालिका में निर्माण कार्य, विकास कार्यों को लेकर राशि नहीं होने की बात इन दिनों सामने आती है। इस वजह से नगर के वार्डो के विकास कार्यों को लेकर स्वीकृति नहीं मिलने से गति नहीं मिल पा रही है। वहीं सार्वजनिक स्थलों के विकास कार्य एवं नगरपालिका को आगे बढ़ाने जैसे कार्य नहीं हो पा रहे हैं। वर्तमान में कांग्रेस की नगर परिषद को तीन वर्ष होने को आ रहे हैं। बावजूद इसके सौंसर नगर में उपलब्धि नहीं दिख रही है। हालांकि नगरीय निकाय के छोटे-छोड़े कार्य मात्र किए जाने से बड़े कार्य प्रभावित हो रहे हैं।
खेल स्टेडियम के रुके पड़े हैं कार्य
रेवनाथ चौरे पार्क के हालात भी बद से बदतर हो रहे हैं। वहीं बच्चों, युवाओं के खेल के लिए बना स्टेडियम भी अपने पूर्ण विकास की आस में वर्षो से है। रेवनाथ चौरे पार्क के समीप निर्माणाधीन स्वीमिंग पूल, जिम के निर्माण को गति नहीं मिल पा रही है। मटन मार्केट से लेकर सिविल लाइन को जोडऩे वाली पुलिया का निर्माण धीमी गति से चलने के कारण आवागमन भी बंद नजर आ रहा है।
आवास योजनाओं के कार्य भी समस्या में नगर में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत चलने वाले निर्माण कार्य भी स्थाई सीएमओ ने हीं होने के कारण प्रभावित हो रहे हैं। गरीब वर्गों के घरों के निर्माण कार्य थम से गए हैं। नगर पालिका के द्वारा विभिन्न छोटे और महत्वपूर्ण कार्यों में बजट की कमी नजर आ रही है। वहीं विभागीय आय-व्यय के बिल आदि भी समय पर भुगतान नहीं हो पा रहे हैं।
मुख्यमंत्री को लिखा है पत्र- नगर पालिका परिषद में स्थाई सीएमओ को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ को रविवार को पत्र प्रेषित किया गया है। नगर पालिका में स्थाई सीएमओ के रहने से नगर विकास के कार्य समुचित और गतिशील बनाने पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।
लक्ष्मण चाके, अध्यक्ष नगरपालिका सौंसर

sunil lakhera
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned