भोपाल दुष्कर्म मामले के बाद पुलिस ने लिए यह अहम निर्णय

भोपाल दुष्कर्म मामले के बाद पुलिस ने लिए यह अहम निर्णय
SP meeting convened after Bhopal rape case

Prabha Shankar Giri | Updated: 11 Jun 2019, 09:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कंट्रोल रूम में हुई बैठक

छिंदवाड़ा. महिलाओं के साथ होने वाले मामूली अपराध को भी अब पुलिस गम्भीरता से लेगी। नाबालिग के साथ होने वाले अपराध पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। सुरक्षा को लेकर पुलिस गम्भीर हो चुकी है। महिला सम्बंधी अपराध को लेकर आम लोगों को भी जागरूक किया जाएगा, इसकी शुरुआत मंगलवार से होगी। सोमवार को एसपी मनोज कुमार राय ने इस सम्बंध में एक बैठक भी ली। पुलिस अधिकारियों के अलावा अन्य विभाग के अधिकारी और एनजीओ से जुड़े लोगों से चर्चा की।
पुलिस लाइन कंट्रोल रूम में एसपी मनोज कुमार राय ने सभी एसडीओपी, महिला सशक्तिकरण, चाइल्ड लाइन और एनजीओ से जुड़े लोगों की सोमवार को पुलिस लाइन कंट्रोल रूम में बैठक ली। नाबालिग की सुरक्षा को लेकर सभी से सुझाव मांगे और दिशा-निर्देश भी जारी किए। ऐसे स्थान चिह्नित किए जाएंगे, जहां नाबालिग के साथ छेड़छाड़ होने की सम्भावना अधिक रहती है। कोचिंग संस्थान के आस-पास मनचलों पर नजर रखी जाएगी। स्कूल और कॉलेज के शुरू होते ही वहां भी पुलिस लगातार गश्त करेगी। इसके अलावा स्लम इलाकों में जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिससे कि नाबालिग बच्चियां किसी के झांसे और बहकावे में आने से बचें। ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करने के लिए निर्देशित किया गया है।

सौ से अधिक नाबालिग बरामद
जिले की पुलिस ने जनवरी से मई माह तक गुमशुदा 111 नाबालिग में से 50 को बरामद कर लिया है। इसी अवधि में 454 महिलाएं भी लापता हुई थीं जिनमें से 236 तलाशी जा चुकी हैं। इसी तरह जनवरी 2019 के पहले 783 महिलाओं के गुम होने के प्रकरण लम्बित थे जिनमें से 139 को पुलिस ने तलाश निकाला है। वहीं 198 नाबालिग के अपहरण वाले मामले लम्बित थे इनमें से 46 नाबालिग तलाशी जा चुकी हैं। बताया जा रहा है कि पिछले पांच माह में पुलिस 108 नाबालिग को ढंूढकर उनके परिवार के सुपुर्द कर चुकी है। वहीं महिलाओं की संख्या 503 है। यह पिछले तीन साल के आंकड़ों की तुलना में बहुत अधिक है।

महिला सम्बंधी अपराध कम हुए
जले में पिछले तीन साल की तुलना में महिला सम्बंधित अपराधों में कमी आई है। पांच माह के भीतर हमने 108 नाबालिग तलाशी जिसमें पिछले साल के लम्बित मामले भी शामिल हैं। वहीं 503 महिलाओं को भी ढूंढ निकाला। अभी भी हमारी टीमें लगातार काम कर रहीं हैं।
मनोज कुमार राय, एसपी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned