scriptSpending more - less income, yet tops in the state | खर्च अधिक-आय कम, फिर भी प्रदेश में अव्वल | Patrika News

खर्च अधिक-आय कम, फिर भी प्रदेश में अव्वल

घाटे में चल रहा ईमलीखेड़ा स्थित संकर पशु प्रजनन केंद्र शासन द्वारा उपेक्षित

छिंदवाड़ा

Published: March 07, 2022 10:59:19 am

छिंदवाड़ा। पशुपालन, दुग्ध व्यवसाय को प्रोत्साहन देने वाले शासकीय संकर पशु प्रजनन प्रक्षेत्र के संचालन में खर्च अधिक है और आय कम। फिर भी ईमलीखेड़ा केंद्र प्रदेश में अव्वल स्थिति में है।
यह कहना है प्रजनन केंद्र के प्रबंधक शेषराव सूर्यवंशी का। उन्होंने बताया कि अक्सर बजट की कमी बनी रहती है, व्यवस्थाएं पूरी नहीं हो पाती हैं। ठेकेदारी व्यवस्था होने के बाद भी प्रजनन केंद्र में कार्य संचालन के लिए अपने संसाधन देने पड़ते हैं ताकि कम खर्च में काम होता रहे। प्रजनन केंद्र में साहीवाल नस्ल की 440 गायें हैं जिनके खाने-पीने, गोबर सफाई की व्यवस्था ठेकेेदारी व्यवस्था से की जाती है। ठेके से देने के बावजूद केंद्र को अपने संसाधन टै्रक्टर आदि ठेकेदार को देने पड़ते हैं ताकि वह गायों के लिए वर्सीम आदि का परिवहन कर सके। वहीं प्रजनन केंद्र में गर्मी के दिनों में पानी की समस्या हर वर्ष बढ़ जाती है।

chhindwara
chhindwara

लगातार कम हो रही है भूमि
ईमलीखेड़ा शासकीय संकर पशु प्रजनन केंद्र के पास कभी 248 एकड़ भूमि थी। आज इनमें स्कूल, निगम के भवन बनते-बनते सिर्फ 103 एकड़ भूमि शेष रह गई है। पानी के लिए पूरी तरह कुलबेहरा नदी पर निर्भर प्रजनन केंद्र क ी गायों की प्यास गर्मी में बमुश्किल से बुझ पाती है। प्रजनन केंद्र के भवन जर्जर होकर गिर रहे हैं।

छह हजार क्विंटल भूसे की नहीं हो पा रही आपूर्ति
प्रबंधन के अनुसार वर्षभर के लिए ठेकेदार को छह हजार क्विंटल भूसे की व्यवस्था करनी होती है, लेकिन उसकी आपूर्ति वर्ष पूरे होने के एक दो महीने पहले ही ठप हो जाती है। वर्षभर के लिए 24 लाख रुपए से अधिक का भूसा को मंगाया जाता है। इसके लिए दो बड़े भूसा गोदाम एवं एक अन्य गोशाला को आरक्षित रखा गया है। फिर भी मार्च के पहले सप्ताह में ही भूसा गोदाम पूरी तरह खाली हैं, जबकि नया भूसा अपै्रल के पहले नहीं मिलेगा। भूसे की कमी को वर्सीम के माध्यम से पूरा किया जा रहा है।

इनका कहना है
दूसरे प्रक्षेत्रों से जमीन कम है। आय क ी तुलना में खर्च अधिक है। इसके बावजूद प्रदेश के अन्य प्रक्षेत्रों से सर्वाधिक पशुधन एवं सर्वाधिक आय है।
- शेषराव सूर्यवंशी, प्रबंधक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

भीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधमंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.