खेल अधिकारी का ऐसा खेल कि ‘सीएम’ तक पहुंच गया मामला

dinesh sahu

Publish: Dec, 08 2017 10:37:51 (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
खेल अधिकारी का ऐसा खेल कि ‘सीएम’ तक पहुंच गया मामला

टीम ने मामले को जिला शिक्षा अधिकारी को वापस भेज दिया है। जबकि शिक्षा अधिकारी की माने तो मामले में फिर से नोटिस जारी किया जाएगा

छिंदवाड़ा . शिक्षा विभाग अंतर्गत शालेय खेल एवं अन्य गतिविधियों पर लाखों रुपए खर्च कर दिए गए, लेकिन इसका कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। यहां तक कि सीएम हेल्पलाइन में इससे सम्बंधित शिकायत लेबल-४ तक चली गई। वहीं मामले की जांच के लिए बनाई गई टीम द्वारा जिला खेल अधिकारी एचएस झिरवार को बिल, बाउचर तथा कैशबुक लेकर उपस्थित होने के लिए पांच बार नोटिस दिया गया। इसके बावजूद जिला खेल अधिकारी ने इन नोटिस को कोई तवज्जो नहीं दी। आखिरकार टीम ने मामले को जिला शिक्षा अधिकारी को वापस भेज दिया है। जबकि शिक्षा अधिकारी की माने तो मामले में फिर से नोटिस जारी किया जाएगा।
जानकारी के अनुसार हर बार नोटिस दिए जाने पर जांच दल खेल अधिकारी झिरवार के उपस्थित होने का इंतजार करता रहा। इस बीच दल के 20 दिन अनावश्यक खराब हुए। नाराज जांच दल ने मामले की जांच उच्चस्तर पर ऑडिट दल से कराने की बात कही है। दल सदस्यों का मानना है कि वह शैक्षणिक कार्य कर सकते हंै। वित्तीय मामले की जांच ऑडिट टीम बेहतर कर सकती है।
गौरतलब है कि शालेय खेल मामले में लाखों रुपए खर्च किए गए लेकिन सम्बंधित अधिकारी के पास इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है। इसी आधार पर मामले में गोलमाल की आशंका बनी हुई है। शिक्षा अधिकारी की माने तो मामले में फिर से नोटिस जारी किया जाएगा।

जांच दल के सदस्य
1. केआर गाडग़े, प्राचार्य पलटवाड़ा
2. जेपी यादव, प्राचार्य सारंग बिहरी
3. सुरेश अल्डक, लेखापाल
4. अविनाश ठाकरे, सहायक गे्रड-२
(जिला शिक्षा कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार)

लौटा दी फाइल
पूछताछ के लिए खेल अधिकारी को पांच बार नोटिस देकर बुलाया गया, लेकिन वे एक बार भी नहीं आए। फिलहाल फाइल डीईओ को लौटा दी गई है।
जेपी यादव, जांच दल के सदस्य

लेंगे सख्त निर्णय
मामले में लापरवाही बरतने पर खेल अधिकारी के खिलाफ सख्त निर्णय लिया जाएगा तथा जल्द ही उन्हें नोटिस जारी
किया जाएगा।
आरएस बघेल, डीईओ

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned