scriptSwachh Survekshan: The story of half the population that is setting an | Swachh Survekshan: आधी आबादी की वह कहानी जो पेश कर रही मिसाल | Patrika News

Swachh Survekshan: आधी आबादी की वह कहानी जो पेश कर रही मिसाल

स्वच्छ सर्वेक्षण के संग्राम में महिला सफाई कामगार मैदान में, घर के कामकाज भी निपटाती हैं, शहर को भी रखती हैं साफ

छिंदवाड़ा

Published: April 09, 2022 11:01:06 am

विनय पुरवार
छिंदवाड़ा। महिला सफाई कामगार घरेलू कामकाज के बाद शहर को भी घर की तरह ही साफ-सुथरा करने का संकल्प लेकर निकलती हैं। वे नियमित रूप से शहर को साफ रखती हैं और इस बीच उनकी व्यक्तिगत परेशानी परे रह जाती है। नगर निगम क्षेत्र में शहर के 48 वार्डां में सफाई का जिम्मा महिलाओं पर ही है। इसका प्रमाण शहर की स्वच्छता से मिलता है।
दरअसल, नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग में शहर की सफाई के लिए रखे गए कामगारों में आधे से अधिक महिलाएं ही हैं। ये महिला कामगार अपनी जिम्मेदारी को ईमानदारी से निभाती हैं, जबकि उनके पास सफाई के अलावा घर की भी जिम्मेदारियांं होती हैं। वे सुबह छह बजे से दस बजे तक शहर की सफाई में जुटी रहती हंै। इसके बाद घर लौटकर परिवार के प्रति जिम्मेदारियां भी निभाती हैं। दूसरी पाली में भी दोपहर दो से शाम पांच बजे तक एक बार फिर सफाई के दायित्व का निर्वहन करती हैं। जब स्वच्छता टीम के आने की धमक सुनाई देती है तो इनके दायित्व को और भी बढ़ा दिया जाता है। ऐसा नहीं है कि इन महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले अधिक वेतन या मानदेय दिया जाता हो, इसके बावजूद उनके काम करने की शैली उन्हें पुरुषों के मुकाबले बेहतर साबित कर रही है।

chhindwara
chhindwara

60 प्रतिशत से अधिक हैं महिला सफाई कामगार
निगम स्वास्थ्य विभाग के घनश्याम सरेठा ने बताया कि कुल सफाई कामगारों में से 60 प्रतिशत से अधिक महिला सफाई कामगार कार्यरत हैं। 850 में से करीब 500 महिला कर्मचारी शहर की सफाई कर रही हैं। इनमें से ज्यादातर कर्मचारियों को छह हजार से 11 हजार रुपए मासिक वेतन दिया जाता है। बरखा, श्वेता, नीतू, रेखाबाई, सुनीता, संजूबाई, सीमा, शारदा, श्यामाबाई सहित पांच सौ से अधिक ऐसी महिलाएं हैंं जिन्होंने घर व काम के बीच सामंजस्य बैठाकर स्वच्छता के संग्राम में अपनी भूमिका तय कर दी है। सफाई कामगार संघ के प्रकाश मेहरोलिया, नीरज गोदरे का कहना है कि महिलाओं को अन्य कर्मचारियों के हक के लिए उनका संघ हमेशा से ही प्रयासरत है।

काम करने का तरीका बन गया यादगार

  • श्यामाबाई : मोहननगर रहवासी श्यामाबाई बुजुर्ग पति के लिए नाश्ते की व्यवस्था कर सुबह पांच बजे ही अनगढ़ हनुमान मंदिर पहुंच जाती हैं और इएलसी चौक तक 10 बजे तक सफाई करती हैं।
  • शारदाबाई : पति बेरोजगार, सास लकवाग्रस्त, बच्ची की कॉलेज की पढ़ाई सहित घर के खर्च चलाने का दायित्व इन पर है। ...लेकिन शहर की सफाई का तय समय कभी नहीं बदलता। दोनों समय सफाई करती हैं।
  • सीमा : पति की मौत के बाद घर चलाना, खाना बनाना, बच्चों की देखरेख की जिम्मेदारी निभाते हुए शिवनगर निवासी सीमा कहीं से भी अपनी ड्यूटी से नहीं हटतीं।
  • संजूबाई : पति तामिया में ड्यूटी करते हैं। खुद वाल्मीक गुरुद्वारे के पास रहते हुए अपने पुत्र को कुछ बनाने की धुन में संजू बाई अपनी ड्यूटी के समय में शहर की स्वच्छता का ख्याल भी घर जैसा ही रखती हैं।
  • सुनीता : पति के निधन के बाद सांवलेबाड़ी में रह रहीं हैं। दो छोटी-छोटी बेटियों को पालने पोसने की जिम्मेदारी है। सफाई कामगार की नौकरी करके जीवन-यापन चल रहा है। काम में हमेशा ईमानदारी बरतती हैं।

इनका कहना है
सरकार की मंशा के अनुसार छिंदवाड़ा नगर निगम ने महिलाओं को काम दिलाने में अहम भूमिका निभाई है। इस पर महिला सफाई कामगारों ने अपने कर्तव्य का भी ईमानदारी से निर्वहन किया है। उनके कार्य को देखते हुए प्रमुखता से संघ के माध्यम से नियमितीकरण की मांग करते हैं।
जगदीश गोदरे प्रदेश संगठन मंत्री अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांगे्रस

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.