शाही एक्सपोर्ट में श्रमिक-प्रबंधन के बीच तनाव...प्रशासन ने किया हस्तक्षेप, जानें वजह

- दो महिलाओं की बिगड़ी तबीयत, यूनिट बंद करने का मामला

By: Dinesh Sahu

Published: 20 Jul 2020, 12:05 PM IST

छिंदवाड़ा/ शाही एक्सपोर्ट कम्पनी को प्रबंधन द्वारा यूनिट को बंद किए जाने के निर्णय पर शनिवार को फिर तनाव निर्मित हो गया तथा श्रमिकों ने यूनिट के बाहर मोर्चा खोल दिया। विवाद बढऩे पर प्रशासन व श्रम विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और समन्वय बनाकर सभी को शांत किया गया। इधर तनाव की वजह से दो महिला श्रमिक बेहोस हो गई, उन्हें उपचार के लिए समीप के एक निजी हॉस्पिटल भर्ती किया गया।

हालांकि शाम तक स्थिति सामान्य होने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। शाही एक्सपोर्ट श्रमिक संगठन की अध्यक्ष मंजू राहंगडाले ने बताया कि कम्पनी प्रबंधन श्रमिकों को मानसिक रूप से प्रताडि़त कर रहा है तथा यूनिट बंद करने के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण काल में अचानक से यूनिट बंद करने से 150 महिला श्रमिकों के सामने बेरोजगारी और परिवार के भरण-पोषण की समस्या खड़ी हो सकती है। प्रबंधन के अवैधानिक निर्णय लिए जाने का विरोध किया जा रहा है।


प्रबंधन और श्रमिकों के बीच बनाया गया समन्वय -


यूनिट में विवाद की सूचना पर टीम मौके पर पहुंची थी तथा प्रबंधन और श्रमिकों की समस्याओं को सुनने के बाद दोनों में समन्वय बनाया गया है। साथ ही सोमवार को एसडीएम कार्यालय में चर्चा के लिए बुलाया गया है। बीमार हुई दोनों महिलाएं स्वस्थ है।


- महेश अग्रवाल, तहसीलदार छिंदवाड़ा

श्रमायुक्त लेंगे निर्णय -


शाही एक्सपोर्ट कम्पनी प्रबंधन को श्रमायुक्त द्वारा दिए गए नोटिस पर अब तक कोई जवाब प्रस्तुत नहीं किया गया है। चर्चा के लिए बुलाए जाने पर भी प्रबंधन से कोई कार्यालय नहीं आ रहा है, जिसकी सूचना श्रमायुक्त को दी गई है। अब श्रमायुक्त इंदौर ही इस मामले में उचित निर्णय लेंगे।


- संदीप मिश्रा, श्रम पदाधिकारी छिंदवाड़ा

Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned