मकान का मलबा सडक़ पर फेंकना पड़ेगा भारी

मकान का मलबा सडक़ पर फेंकना पड़ेगा भारी

Rajendra Sharma | Publish: Sep, 11 2018 10:01:02 AM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

निगम चला रहा है विशेष सफाई अभियान

दंडात्मक कार्रवाई कर वसूला जाएगा जुर्माना
छिंदवाड़ा. नगर निगम अब एेसे भवन मालिकों पर कार्रवाई करने की तैयारी में है जो अपना मकान गिराकर उसका मलबा सडक़ों पर ही छोड़ देते हैं। स्वच्छ भारत मिशन नोडल अधिकारी आरएस बाथम ने बताया कि सी एण्ड डी वेस्ट भवन निर्माण एवं विध्वंस मलबा का संग्रहण और प्रसंस्करण नगर निगम द्वारा बर्मन प्लाट अपशिष्ट प्रसंस्करण केंद्र में किया जाता है। उपरोक्त मलबे का उपयोग पुराव एवं सडक़ निर्माण में होता है। निजी परिसरों से निकलने वाले सी एण्ड डी वेस्ट लापरवाही पूर्वक पड़ा पाया जाता है तो नगर निगम दोषी व्यक्ति अथवा संस्था पर अर्थ दण्ड लगायेगा।
उल्लेखनीय है कि स्वच्छ प्रदेश स्वस्थ प्रदेश अभियान अन्तर्गत नगर निगम द्वारा बस स्टैंड, सब्जी मंडी, धार्मिक स्थलों, सडक़ों, डिवाइडरों के आस-पास सहित विभिन्न सार्वजनिक स्थलों पर विशेष सफ ाई अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में भैय्या जी की मजार, नागपुर रोड चर्च, मटन मार्केट क्षेत्र में निगम सफ ाई अमले ने सफाई कर सडक़ों व नालियों से मलबा हटाया गया।

रैगपिकर्स की मीटिंग


बर्मन प्लॉट स्थित केंद्रीय अपशिष्ट प्रसंस्करण केन्द्र पर नगर निगम के स्वच्छता विभाग ने रैग पिकर्स एवं पन्नी बचने वालों से बैठक की। उनसे पुनर्चक्रण योग्य कचरे को पृथक करने एवं उसे कबाड़ व्यवसायियों को बेचे जाने के विषय पर बात की गई। इस बारे में कबाड़ व्यवसायियों से भी राय ली गई है।

स्कूली बच्चों को दिलाई स्वच्छता की शपथ

जनजागरुकता कार्यक्रम के तहत लाल बहादुर शास्त्री बालक शाला में छात्रों को स्वच्छता पर शपथ दिलाई गई। स्वच्छता जनजागरुकता एवं छात्रों में व्यवहार परिवर्तन विषय पर स्कूल प्रबंधन एवं शिक्षकों छात्र, प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित की गई।

इधर, निगम फेल, मदद करने कांजीहाउस पहुंचे समाजसेवी

चंदनगांव स्थित कांजीहाउस में चारे के अभाव में बीते दिनों गायों की मौत होने का मामला सामने आने के बाद कई समाजसेवी संगठन और लोग सहयोग के लिए आगे आने लगे हैं। सोमवार को कुछ समाजसेवी संगठन कांजीहाउस पहुंचे और चारा दिया। साथ ही उन्होंने प्रशासन से गायों की उचित देखभाल की मांग की।
दरअसल, बीते दिनों चंदनगांव के कांजीहाउस में क्षमता से ज्यादा गाय रखीं गई थीं। उन्हें उपयुक्त चारा और हरी घास उपलब्ध कराने में निगम प्रशासन नाकाम रहा। एक जानकारी के अनुसार चारे के कमी से अब तक करीब २५ गायों की मौत यहां हो चुकी है। इसकी सूचना जब समाजसेवी संगठनों तक पहुंची तो उन्होंने यहां पहुंचकर मदद करने का मन बनाया। इसी कड़ी में सोमवार को कुछ लोगों ने यहां जाकर चारा और हरी घास उपलब्ध कराई। साथ ही आगे भी मदद का आश्वासन दिया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned