गोटमार मेले में भीड़ बेकाबू, सरकारी वाहन तोड़ा, एक हजार पुलिस कर्मियों ने सम्भाला मोर्चा : live video

अचानक किसी बात को लेकर भीड़ बेकाबू हो गई। गुस्साए लोगों ने एक एम्बुलेंस पर किया पथराव। एबुलेंस को पलटाया और तोडफ़ोड़ की।

By: Rajendra Sharma

Published: 22 Aug 2017, 12:44 PM IST


छिंदवाड़ा. मप्र के छिंदवाड़ा जिले के पांढुर्ना में अजीबों-गरीब परम्परा है। यहां ग्रामीण एक-दूसरे को पत्थर मारते हैं। इसी परम्परा का निर्वाह करते हुए ग्रामीण मंगलवार को सुबह से पत्थरबाजी कर रहे हैं। अचानक किसी बात को लेकर भीड़ बेकाबू हो गई। गुस्साए लोगों ने एक एम्बुलेंस पर किया पथराव। एबुलेंस को पलटाया और तोडफ़ोड़ की। बताया जा रहा है कि पत्थर नहीं होने के कारण मेला खेलने वाले लोग गुस्साए और उन्होंने उपद्रव शुरू कर दिया।
गोटमार मेले की नजाकत को देखते हुए आईजी, कलेक्टर, एसपी पहले से मौके पर पर थे। इसके अलावा मेले में लगभग एक हजार पुलिसकर्मियों का बल तैनात है। इसमें नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी जिले के पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। आठ डीएसपी, 20 टीआई के नेतृत्व में पुलिसकर्मी मोर्चा सम्भाले हुए हैं।
हालांकि सुबह से ग्रामीण एक-दूसरे को पत्थर मार रहे हैं। दोपहर तक दर्जनों लोग लहूलुहान हो चुके हैं। दरअसल, छिंदवाड़ा जिले के पांढुर्ना में जाम नदी के तट पर परम्परा के अनुसार मंगलवार को गोटमार मेले लगा है। यहां खूनी खेल खेला जा रहा है। वर्षों पुरानी इस परम्परा का आज भी उसी तरह से निर्वहन किया जा रहा है। जाम नदी के एक ओर सांवरगांव तो दूसरी ओर पांढुर्ना पक्ष के लोग इकठ्ठा होकर एक दूसरे पर पत्थर बरसा रहे हैं। चूंकि यह लोक परम्परा से जुड़ा आयोजन है, इसलिए अधिकारी मौके पर होकर केवल घायलों को मदद पहुंचाने का काम कर रहे हैं।

कैमरों से रखी जा रही नजर

प्रशासन ने मेले में गोफन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया है। गोफन चलाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने की बात कही गई है। पांढुर्ना थाने टीआई भूपेंद्र सिंह गुलबांके ने बताया कि मेले में गोफन चलाने वाले, अवैध शराब बेचने वाले के विरुद्ध मोबाइल कैमरे से नजर रखी जाएगी। पुलिस ने मेले के करीब सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं।

 

दो दर्जन घायल

जानकारी के अनुसार मेले में दोपहर बारह बजे तक करीब पत्थरबाजी में दो दर्जन ग्रामीण जख्मी हो चुके थे। हालांकि घायलों के उपचार के लिए मौके पर स्वास्थ्य विभाग की टीम मौजूद थी। जो लोग गम्भीर रूप से जख्मी हो रहे हैं उन्हें नागपुर के मेडिकलकॉलेज रैफर किया जा रहा है।

 

Rajendra Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned