मॉडल मेटर्निटी विंग का डिलेवरी कक्ष बंद, जानें वजह

मॉडल मेटर्निटी विंग का डिलेवरी कक्ष बंद, जानें वजह

Dinesh Sahu | Publish: Jul, 18 2019 12:06:52 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

जिला अस्पताल में बदइंतजामी, कल्चर जांच न होने से अपग्रेट गायनिक लेबर रूम बंद

 

छिंदवाड़ा. जिला अस्पताल की मॉडल मेटर्निटी विंग के अंतर्गत संचालित गायनिक लेबर रूम की सेवाएं मरीजों को नहीं मिल पा रहीं हैं। वहीं क्षमता से अधिक मरीजों के पहुंचने से व्यवस्था बेपटरी हो रही है। हालात ये हैं कि अतिरिक्त व्यवस्था बनाने से भी लोगों की समस्याएं जस की तस बनी हुई हैं।दरअसल, मिशन लक्ष्य के तहत जिला अस्पताल का चयन हुआ था।

 

इसके चलते गायनिक विभाग को अपग्रेड किए जाने के लिए शासन की ओर से बजट भी स्वीकृत किया गया, लेकिन संक्रमण की कल्चर जांच नहीं हो पाने से अब तक आधुनिक लेबर रूम की सेवा नही मिल पा रही है। जानकारी के अनुसार विभाग को कई अत्याधुनिक यंत्रों से सुसज्जित किया गया है, ताकि आधुनिक लेबर रूम में अपेक्षाकृत ज्यादा डिलेवरी एक दिन में की जा सके।


क्षमता से अधिक मरीजों के पहुंचने बढ़ रही दिक्कतें


1. 120 पलंग, वर्तमान में गायनिक विभाग की क्षमता
2. 300 पलंग की दरकार प्रतिदिन मरीजों के पहुंचने के आधार पर
3. 50 पलंग ही अतिरिक्त व्यवस्था बनाने के लिए उपलब्ध
4. सामान्य डिलेवरी पर ज्यादा समय तक नहीं रखा जाना मजबूरी।
5. वर्तमान में लेबर रूम के लिए 16 तथा वार्ड में दो-दो स्टाफ की जरूरत।


यह है गाइडलाइन


स्वास्थ्य संचालनालय की गाइडलाइन के आधार पर गायनिक विभाग में छह मरीज पर एक नॄसग स्टाफ, आइसीसीयू में एक मरीज पर एक स्टाफ व सामान्य मरीजों की स्थिति में दस पर एक स्टाफ पदस्थ होना अनिवार्य है

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned