scriptThe fear of transfer started harassing, the secretary in the shelter o | सताने लगा तबादले का डर, नेताओं की शरण में सचिव | Patrika News

सताने लगा तबादले का डर, नेताओं की शरण में सचिव

पंचायत सचिवों को स्थानांतरण होने का डर सताने लगा है । सचिवों ने जोड़तोड़ करना शुरू कर दिया है। वहीं कई नेता भी स्थानांतरण नीति जारी होने के बाद सक्रिय हो गए हैं ।

छिंदवाड़ा

Published: July 18, 2021 11:39:59 am

छिन्दवाड़ा/ तामिया .स्थानांतरण नीति जारी होने के बाद से ही जनपद पंचायत तामिया के पंचायत सचिवों को स्थानांतरण होने का डर सताने लगा है । सचिवों ने जोड़तोड़ करना शुरू कर दिया है। वहीं कई नेता भी स्थानांतरण नीति जारी होने के बाद सक्रिय हो गए हैं । विवादित कार्य प्रणाली से नेता नाराज :बताया जाता है कि कुछ सचिवों की विवादित कार्य प्रणाली से क्षेत्र के नेता नाराज हैं । ऐसे सचिवों ने अब नेताओं को मनाने के लिए बैठक का आयोजन भी किया है। किसी को भनक नहीं लगे इसके लिए बैठक तामिया ब्लॉक से बाहर मटकुली के देनवा रिसोर्ट में आयोजित की गई। इसमें तामिया मंडल अध्यक्ष सुनील मर्सकोले और कोषाध्यक्ष रिंकू साहू को आमंत्रित किया गया। दूसरे नेता हुए खफा: बताया जाता है कि बैठक की जानकारी लगते ही भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने विरोध में बोलना शुरू कर दिया है । उनकी नाराजगी भाजपा अध्यक्ष को ही बुलाने को लेकर है। बैठक की वरिष्ठ पदाधिकारियों से शिकायत करने की चर्चा चल रही है । तामिया मंडल के 30 सचिव बैठक में मौजूद रहे । बताया जाता है कि भाजपा मंडल अध्यक्ष सुनील मर्सकोले ने सचिवों के साथ स्थानांतरण को लेकर चर्चा की । कार्यप्रणाली के आधार पर हो स्थानांतरण :सचिव प्रेमलाल राय ने बताया कि जिन सचिवों की शिकायत है। उन्हीं का स्थानांतरण किया जाना चाहिए । सचिव ओमप्रकाश साहू का कहना है कि स्थानांतरण को लेकर सचिवों ने बैठक का आयोजन किया था । बेवजह किसी भी सचिव का स्थानांतरण ना किया जाए । इस मामले में मंडल अध्यक्ष मर्सकोले का कहना है कि स्थानांतरण को लेकर सचिवों ने बैठक रखी थी । स्थानांतरण को लेकर चर्चा की गई ।
सताने लगा तबादले का डर, नेताओं की शरण में सचिव
सताने लगा तबादले का डर, नेताओं की शरण में सचिव

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.