scriptThe number of black spots decreased but there was no big difference in | The number: ब्लैक स्पॉट की संख्या घटी पर मौत के आंकड़ों में नहीं आया बड़ा अंतर | Patrika News

The number: ब्लैक स्पॉट की संख्या घटी पर मौत के आंकड़ों में नहीं आया बड़ा अंतर

जिले की सड़कों पर बने ब्लैक स्पॉट की संख्या में काफी कमी आई है। लेकिन इससे दुर्घटना में होने वाली मौत के आंकड़ों में बड़ा अंतर नहीं आया है।

छिंदवाड़ा

Published: June 09, 2022 12:35:34 pm

बीके पाठे
छिंदवाड़ा. जिले की सड़कों पर बने ब्लैक स्पॉट की संख्या में काफी कमी आई है। लेकिन इससे दुर्घटना में होने वाली मौत के आंकड़ों में बड़ा अंतर नहीं आया है। यह जरूर हुआ है कि दुर्घटनाओं की संख्या में काफी कमी आई है। वर्तमान में पूरे जिले में अब केवल 10 ब्लैक स्पॉट शेष रह गए हैं। वर्ष 2020 में यह संख्या 29 थी। पुलिस के प्रयास और अन्य सुधार से 19 ब्लैक स्पॉट कम हुए हैं।

accident
accident

जिले के राष्ट्रीय राजमार्ग 418 किमी, राज्य राजमार्ग 367 किमी, एम.डी.आर. सड़क 495 किमी, प्रधान मंत्री सड़क 3859 किमी सहित अन्य सड़क 500 किमी है। वर्ष 2017, 2018 एवं 2019 में इन सड़कों पर कुल 29 ब्लैक स्पॉट चिन्हित थे। जिनमें सिल्लेवानी घाटी, तंसरा पेट्रोल पम्प सर्किल रोड सिवनी से नागपुर, सर्किल रोड़ नागपुर से परािसया, रामगढी, चौपाल सागर, फटाका गोदाम, ईकलहरा चौक के सामने थाना चंदामेटा, खापाभाट चोर मंदिर सहित अन्य स्थान शामिल थे। पुलिस के प्रयासों से ऐसे स्थानों में कमी आई है। वर्तमान में 10 ब्लैक स्पॉट शेष रह गए हैं। इनमें प्रमुख रूप से रामगढ़ी, फटाका गोदाम, बोरगांव, दूल्हादेव की घाटी, प्रिंस ढाबा सिवनी रोड, घाटपरासिया, करबडोल, सिल्लेवानी घाटी, तंसरा पेट्रोल पम्प और मोहखेड़ जोड़ तिराहा शामिल है। वर्ष 2017 से 2019 के बीच गम्भीर दुर्घटनाओं की संख्या 283 से 300 के बीच रही है। वर्तमान में भी आंकड़ा लगभग इसी के आस-पास है। दुर्घटना में मृतकों की संख्या भी लगभग सामान ही रही है। घायल व्यक्तियों की संख्या में जरूरी बड़ा अंतर आया है।

मौत और घायलों में अंतर की यह है वजह

पुलिस की प्राथमिक जांच में यह निष्कर्ष निकला है कि दुर्घटना के बाद घायलों को मिलने वाले इलाज पर निर्भर करता है। सही समय पर इलाज मिलने पर घायलों की संख्या अधिक होगी। समय पर सही इलाज नहीं मिलने की स्थिति में घायल की मौत होगी और इससे मरने वालों की संख्या बढ़ेगी, जबकि घायलों की संख्या कम हो जाएगी। निर्भर करता है कि दुर्घटना रोकने के लिए किए गए प्रयासों के साथ ही दुर्घटना घटित होने के बाद घायलों को बचाने के लिए किस स्तर पर इलाज दिया गया है। पुलिस इस बात को भी मानती है कि दुर्घटना के लिए ब्लैक स्पॉट से ज्यादा वाहन चालक की लापरवाही भारी पड़ती है। वाहन चालक रोड के साइन बोर्ड, दिशा और संकेत का ध्यान देगा तो दुर्घटनाएं नहीं होगी।

ऐसे तय होता है ब्लैक स्पॉट
भारत सरकार परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय परिवहन अनुसंधान विभाग नई दिल्ली की जारी परिभाषा के अनुसार विगत तीन वर्षों में 5 ऐसे दुर्घटनाएं हुई हो जिसमें मौत हुई हो या फिर गम्भीर रूप से घायल हुए हो। 3 वर्षों में 10 या इससे अधिक मौत हुई है। प्रत्येक दुर्घटनाएं एक ही स्थान पर 500 मीटर के दायरे में हुई हो। ऐसे स्थान को ब्लैक स्पॉट घोषित किया जाता है।

वाहन चालक करता है मानवीय गलतियां

सड़क दुर्घटना की सबसे बड़ी वजह मानवीय गलतियां। वाहन चालक नियमों का पालन नहीं करता। रोड साइनेज व साइन बोर्ड के निर्देशों का पालन नहीं करते। इसकी वजह से दुर्घटना होती है। ब्लैक स्पॉट से गुजरने वाला हर वाहन दुर्घटना का शिकार नहीं होता, जो चालक लापरवाही बरतता है वही दुर्घटनाग्रस्त होता है।

-सुदेश कुमार सिंह, डीएसपी, ट्रैफिक, छिंदवाड़ा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Udaipur Murder: कन्हैया के परिवार को 31 लाख मुआवजे का ऐलान, आतंकी हमले की आशंका से केंद्र ने Rajasthan भेजी NIA की टीमएसआइटी जांच,  एक माह तक धारा 144, 24 घंटे इंटरनेट बंदUdaipur Murder Case: पूरे देश में तनाव का माहौल, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा- CM Ashok Gehlot, देखें Video...Maharashtra Political Crisis: देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से की मुलाकात, जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कीदिल्ली के मंगोलपुरी में फैक्ट्री में लगी आग, दमकल की 26 गाड़ियां मौके परन्यायाधीश ने दो घंटे मोबाइल की टॉर्च की रोशनी में की सुनवाईटीम इंडिया ने आयरलैंड का सपना तोड़ा, दूसरे टी-20 में 4 रन से हराकर सीरीज में किया क्लीन स्वीपदीपक हुडा ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का लगाया पहला शतक, आयरलैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.