scriptनहीं टूटी पुरानी इमारत, फायर सिस्टम का काम बंद, लैब का कार्य कछुआ चाल से | Patrika News
छिंदवाड़ा

नहीं टूटी पुरानी इमारत, फायर सिस्टम का काम बंद, लैब का कार्य कछुआ चाल से

जिला अस्पताल के महत्वपूर्ण कार्यों में हो रही लेटलतीफी, परिसर में होना है निर्माण, निर्माण को लेकर प्रबंधन कर रहा पत्राचार

छिंदवाड़ाJun 16, 2024 / 02:35 pm

Jitendra Singh Rajput

jila asptaal

jila asptaal

छिंदवाड़ा. जिला अस्पताल में न्यू मेटरनिटी विंग, इंटीग्रेटेड पब्लिक लैब के साथ पुरानी इमारतों के लिए फायर फाइटर सिस्टम लगाने की कार्ययोजना वर्तमान में ठंडे बस्ते में है। इन महत्वाकांक्षी कार्ययोजनाओं को गति नहीं मिल पा रही है, न्यू मेटरनिटी विंग के लिए पुरानी इमारत तोडऩे का कई बार टेंडर, फायर सिस्टम का कार्य बंद तथा लैब का कार्य कछुआ चाल से वर्तमान में चल रहा है। इस लेटलतीफी के कारण जिले व आसपास के जिलों के मरीजों व उनके परिजनों को मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। जिला अस्पताल प्रबंधन ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर इस संबंध में जानकारी दे दी है। वर्तमान में अधूरे निर्माण कार्य के कारण जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं फैल रही है जिसकी शिकायत अस्पताल प्रबंधन को मिल रही है।
  • कार्य पूर्ण होने से मिलेगा फायदा
  • 200 बेड की मॉडर्न मेटरनिटी विंग

जिला अस्पताल मेंं पांच मंजिला मॉडर्न मेटरनिटी विंग का निर्माण किया जाना है। जिसमें बेड क्षमता 200 बेड की होगी, वर्तमान में 100 बेड है। नई इमारत में मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर, लेबर रूम, प्री एवं पोस्ट लेबर रूम और पीएनसी वॉर्ड, आइसोलेशन वॉर्ड, मेटरनिटी वॉर्ड, पीआईसी, एचडीयू एवं एनबीएसयू बनाए जाएंगे।
24 घंटे काम करेगी लैब


इंटीग्रेटेड पब्लिक हेल्थ लैब (आईपीएचएल) के बनने के बाद उसकी शुरुवात होने से सभी प्रकार की जांचे एक ही स्थान पर हो सकेगी जो कि 24 घंटे सातों दिन कार्य करेगी। प्रयोगशाला में एक-एक सामूहिक सैंपल कलेक्शन केंद्र व रिपोर्ट डिस्पैच केंद्र बनाया जाएगा। इस सुविधा का फायदा जिले के साथ ही अन्य जिले के मरीजों को मिलेगा।
पुरानी इमारतों की अग्रि से सुरक्षा


अस्पताल परिसर की पुरानी इमारतों में अग्नि सुरक्षा को लेकर फायर फाइटर सिस्टम लगाने के तहत कार्ययोजना बनाई गई। गायनिक वार्ड के सामने पानी टैंक व सभी पुरानी इमारतों तक पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जाना है। वर्तमान में गायनिक वार्ड, सिविल सर्जन कार्यालय, पैथालॉजी लैब व पुरानी ओपीडी, आरएमओ कार्यालय में फायर फाइटर सिस्टम नहीं है, जिसके लगने से इन इमारतों को अग्रि से सुरक्षा मिल सकेगी।
    • वर्तमान में कार्यों की क्या स्थिति
    पुरानी इमारत नहीं टूट पाई अब तक


    लोकसभा चुनाव के पहले जिला अस्पताल में मॉडर्न मेटरनिटी विंग की सौगात मिल गई थी। जिसका निर्माण पुराने सर्जिकल वार्ड, मरचुरी कक्ष व ऑपरेशन कक्ष तोडकऱ किया जाना था। निर्माण से पहले पीआईयू ने पुरानी इमारत तोडऩे टेंडर जारी किया लेकिन दो बार टेंडर जारी होने के बाद भी अब तक पुरानी इमारत नहीं टूट पाई है। जितनी जल्दी पुरानी इमारत टूटेगी उसके तत्काल बाद नई इमारत का निर्माण शुरु किया जाएगा।
    फायर सिस्टम के गड्ढे भर खुदे


    पुरानी इमारतों को अग्रि सुरक्षा करने फायर फाइटर सिस्टम बनाया जाना था। कंपनी ने कार्य शुरु कर दिया तथा पानी टैंक बनाने बड़ा गड्ढा किया था लेकिन कुछ समय बाद ठेकेदार ने कार्य बंद कर दिया। वर्तमान में गायनिक वार्ड के सामने गड्ढा मरीजों व उनके परिजनों के लिए मुसीबत बना है। प्रबंधन ने गड्ढे के चारों ओर ग्रीन मेट लगाई है कि लोग किसी हादसे का शिकार ना हो।
    पुरानी लैब में बनना है आधुनिक लैब


    वर्तमान में पुरानी लैब को ही अपग्रेड कर इंटीग्रेटेड पब्लिक हेल्थ लैब (आईपीएचएल) बनाया जाना है। जिसके तहत अभी प्रथम मंजिल पर तोडफ़ोड़ कर निर्माण कार्य किया जा रहा है जिसके निर्माण होने के बाद ऊपर का सामान नीचे शिफ्ट किया जाएगा तथा द्वितीय मंजिल पर तोडफ़ोड़ कर कार्य किया जाएगा। वर्तमान में चल रहे निर्माण कार्य के कारण लैब का कार्य वर्तमान में प्रभावित हो रहा है।
      • इनका कहना है।

      • मॉर्डन मेटरनिटी विंग के निर्माण के लिए पुरानी इमारत को तोड़ा जाना है, जिसको लेकर अभी टेंडर प्रकिया चल रही है। फायर सिस्टम का कार्य बंद है जिसको लेकर विभाग को पत्र लिखा गया है। लैब का निर्माण कार्य वर्तमान में चल रहा है।

      • उदय पराडकऱ, सहायक प्रबंधक, जिला अस्पताल, छिंदवाड़ा।

      Hindi News/ Chhindwara / नहीं टूटी पुरानी इमारत, फायर सिस्टम का काम बंद, लैब का कार्य कछुआ चाल से

      ट्रेंडिंग वीडियो