Chhindwara: छिंदवाड़ा की जेल से भागा बंदी, फिर चौराहा पर इस हालत में पकड़ा गया

तीन बजे रात में केन्द्रीय जेल अधीक्षक, पुलिस कंट्रोल रूम और कोतवाली थाना को जिला जेल अधीक्षक ने सूचना दी

By: babanrao pathe

Published: 05 Jun 2021, 11:24 AM IST

छिंदवाड़ा. जिला अस्पताल के आइसीसीयू वार्ड में भर्ती होकर इलाज करा रहा एक गम्भीर अपराध का विचाराधीन बंदी गुरुवार रात करीब 12.30 बजे ड्यूटी पर तैनात जेल प्रहरी को चकमा देकर फरार हो गया। तीन बजे रात में केन्द्रीय जेल अधीक्षक, पुलिस कंट्रोल रूम और कोतवाली थाना को जिला जेल अधीक्षक ने सूचना दी, जिसके के बाद अलग-अलग टीमें विचाराधीन बंदी की तलाश में रवाना हुई।

मिली जानकारी के अनुसार विचाराधीन बंदी कमलेश उर्फ राहुल (23) पिता गंगाराम दुबे निवासी मंडला नरहेरा थाना उदयपुरा जिला रायसेन छिंदवाड़ा जिला अस्पताल के आइसीसीयू वार्ड में इलाजरत था। कमलेश के खिलाफ पांढुर्ना थाना में धारा 363, 366, 376 (2) (क) आइपीसी5/6 पॉक्सो एक्ट में प्रकरण दर्ज है। जे.बी.एस. राजपूत जेएमएफसी न्यायालय पांढुर्ना में प्रकरण विचाराधीन है। 30 मार्च 2021 को जेल दाखिल किया गया था। 28 मई को उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बंदी रात करीब 1 बजे जिला अस्पताल से फरार हो गया। जेल और कोतवाली थाना पुलिस की टीम ने बंदी की तलाश शुरू कर दी। जेल स्टॉफ की तीन टीम बनाकर अलग अलग स्थानों पर भेजी गई। जिला जेल अधीक्षक यजुवेन्द्र बाघमारे के नेतृत्व में एक टीम ने छिंदवाड़ा से आठ किमी दूर परासिया रिंग रोड चौराहा से विचाराधीन बंदी कमलेश को हिरासत में लिया। जिला अस्पताल से छुट्टी कराने के बाद उसे जिला जेल दाखिल किया गया है। कोतवाली पुलिस ने जेल वार्ड से भागने पर प्रकरण दर्ज किया है। जेल अधीक्षक बाघमारे ने बताया कि रात 10 से 2 में अस्पताल ड्यूटी पर तैनात जेल प्रहरी द्वारा कर्तव्य में लापरवाही एवं सूचना देरी से देने पर प्रारंभिक जांच कर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है।

पुरस्कार के लिए टीम का भेजा नाम
फरार हुए विचाराधीन बंदी को हिरासत में लेने वाली टीम में जिला जेल अधीक्षक यजुवेन्द्र बाघमारे, धर्मवीर सहायक जेल अधीक्षक, प्रकाश नारायण दीक्षित मुख्य प्रहरी, टीकाराम सनोडिया प्रहरी सम्मिलित थे। इस टीम को पुरस्कृत करने के लिए केन्द्रीय जेल अधीक्षक ने डी.जी. जेल को अनुसंशा पत्र भेजा है। कार्रवाई में कोतवाली थाना एवं पुलिस कंट्रोल रूम का विशेष सहयोग मिला है। आरोपी के सम्बंध में पुलिस कंट्रोल रूम से लगातार जानकारी दी जा रही थी।

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned