scriptThe ropes swinging on the road are also the enemy of life, how to read | Road: सड़क पर झूलती रस्सियां भी है जान की दुश्मन, कैसे पढ़ें यह खबर | Patrika News

Road: सड़क पर झूलती रस्सियां भी है जान की दुश्मन, कैसे पढ़ें यह खबर

विभिन्न जग्श्र और आयोजनों के दौरान तोरण के लिए इस्तेमाल होने वाली प्लॉस्टिक की रस्सियां भी जान जोखिम में डाल सकती है।

छिंदवाड़ा

Published: April 22, 2022 12:44:37 pm

छिंदवाड़ा. जान के लिए सिर्फ चाइनीज मांजा ही खतरनाक नहीं है। विभिन्न जग्श्र और आयोजनों के दौरान तोरण के लिए इस्तेमाल होने वाली प्लॉस्टिक की रस्सियां भी जान जोखिम में डाल सकती है। इनसे झंडिय़ां से लेकर अन्य प्रतीक चिन्ह बांधने के बाद रस्सियों को खोलना या फिर हटाना भूल जाते हैं और ये सड़क व चौक-चौराहों पर लटकती रहती है।

Road: सड़क पर झूलती रस्सियां भी है जान की दुश्मन, कैसे पढ़ें यह खबर
सड़क पर झूलती रस्सियां भी है जान की दुश्मन, कैसे पढ़ें यह खबर

वीडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें-

चौक-चौराहों पर लटकती रस्सियां भारी वाहनों में फंसकर गिरती है या फिर दोपहिया वाहन में भी फस जाती है, इस तरह की स्थिति चाइनीज मांजे से कम खतरनाक नहीं होती। आसमान में निसंकोच उडऩे वाले पक्षियों के लिए भी इस तरह की तोरण जान की दुश्मन बनती जा रही है। पक्षी भी आए दिन प्लॉस्टिक की इन रस्सियों से फंसकर घायल होते हैं या फिर अपनी जान गंवा देते हैं। शहर के ईएलसी चौक, फव्वारा चौक से लेकर इंदिरा तिराहा और सत्कार तिराहा के साथ ही गोलगंज पहुंच मार्गों पर विशेष आयोजनों के बाद ऐसे हालात आसानी से देखने को मिलते हैं। आयोजक इस तरह की तोरण बंधवाने के बाद भूल जाते हैं कि इन्हें सुरक्षित तरीके से निकालकर आमजन व पक्षियों की जान को सुरक्षित बचाया जा सके। लटकती हुई तोरण की चपेट में आने से लोग अक्सर घायल हो जाते हैं, लेकिन बड़ा हादसा नहीं होता जिसके चलते कोई भी इस ओर ध्यान देने को तैयार नहीं होता। बिजली के तारों में फंसकर भी प्लॉस्टिक की रस्सियां लटकती हुई आसानी से शहर के किसी भी हिस्से में देखी जा सकती है।

इनसे भी कट सकती है गर्दन

केवल चाइनीज मांजा ही नहीं गर्दन इस तरह की प्लॉस्टिक वाली रस्सियों से भी कट सकती है। दूसरे बड़े हादसे भी हो सकते हैं। नगर निगम को चाहिए कि किसी भी तरह के आयोजन के उपरांत मुख्य चौक और चौराहों पर साफ सफाई के साथ प्लॉस्टिक की इन रस्सियों को भी हटाएं। ताकि आम लोगों के साथ ही पशु और पक्षी इनमें फसकर घायल न हो। शहर के भीतर ऐसे कई इलाके हैं जहां इस तरह की रस्सियां लटकती हुई देखी जा सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते होकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजह16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर आर प्रज्ञानानंद ने रचा इतिहास, चेसेबल मास्टर्स के फाइनल में पहुँचने वाले पहले भारतीयलोकसभा चुनाव वाला Yogi का बजट, धर्म के साथ रोजगार, युवा, किसान, महिलाओं को जोड़ेगी सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.