अंधड़ से उड़ी छतें तो ओलों से फिर बिछ गई फसल

अंधड़ से उड़ी छतें तो ओलों से फिर बिछ गई फसल
Then ovary in Chhindwara

Prabha Shankar Giri | Updated: 21 Mar 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

गांवों में मची अफरातफरी, फसलों को फिर नुकसान

छिंदवाड़ा. बुधवार को पूरे जिले में तेज गरज-चमक और आंधी के साथ घने छाए बादलों ने फिर तबाही मचाई। लगभग दस मिनट तक तेज बारिश के साथ चले अंधड़ ने जिले के कई स्थानों पर घरों की छतें उखाड़ फेंकी। हवा कितनी तेज थी इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कई बड़े पेड़ जड़ से उखडकऱ जमींदोज हो गए। जिले के चौरई, अमरवाड़ा, छिंदवाड़ा, लिंगा, उमरानाला की ओर भारी नुकसान होने की जानकारी है। चौरई मेेंं दर्जनभर से ज्यादा गांवों में अंधड़ के साथ हुई बारिश और ओलों ने खेतों को नुकसान पहुंचाया तो मोहखेड़ में घने बादलों के साथ बारिश और ओलों ने अफरातफरी मचा दी। लिंगा में भी तेज बारिश के साथ बारीक ओले गिरने की जानकारी है। जिन क्षेत्रों में तेज आंधी बारिश और ओले गिरे हैं वहां के प्रशासनिक अधिकारियों ने राजस्व विभाग की टीम को निरीक्षण के निर्देश भी दिए हैं। इधर आकाशीय बिजली से घानाउमरी में एक महिला की मौत हो गई।
अचानक छाए घने बादल
दोपहर लगभग तीन बजे अचानक आसमान में घने बादल छा गए। ऐसा लगा कि शाम हो गई हो। कुछ देर बाद बादल गरजने के साथ बिजली की कडक़ सुनाई और दिखाई देने लगी। इसी बीच तेज हवा अपने साथ बारिश भी ले आई और चंद मिनटों में मूसलाधार बारिश होने लगी। शहर के कई इलाकों में छोटे आकार के ओले भी गिरे। इस बीच मैदानी इलाकों और जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में तेज अंधड़ और आड़े तिरछे पानी ने लोगों को परेशान कर दिया। हवा इतनी तेज थी कि लोग जहां मौका मिला वहां छिपने को मजबूर हो गए।
लगभग पांच मिनट तक तेज
बारिश हुई।

ग्रामीण क्षेत्रों में भारी नुकसान
तेज हवा आंधी के साथ आई बारिश ने ग्रामीण क्षेत्रों में भारी नुकसान पहुंचाया है। चौरई के समसवाड़ा, घोरावाड़ी, फुटेरा, देवरी, रिसस सहित दर्जनभर गांवों में बारिश ओलों और हवा आंधी ने भारी तबाही मचाई। कई पेड़ उखडकऱ गिर गए। इधर अमरवाड़ा क्षेत्र के साथ लिंगा मोहखेड़ में भी बेमौसम की बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया। बिछुआ के साथ सौंसर के आसपास के क्षेत्रों में भी कई जगहों पर तेज बारिश होने की जानकारी है।

फसल-सब्जियों को फिर क्षति
बेरहम बना मौसम किसानों के लिए लगातार परेशानी का कारण बन रहा है। महीने भर में यह पांचवी बार है जब हवा पानी और ओलों ने फसलों को बर्बाद किया है। बुधवार को तेज बारिश के कारण गिरे ओलो ने चना, गेहूं के साथ सब्जियों को नुकसान पहुंचाया है। फसल अब कटने को है, लेकिन मौसम फसल को खेतों से निकालकर सुरक्षित रखने तक का मौका किसानों को नहीं दे रहा है। इस सीजन में सब्जियां वैसे ही कम होती हंै। ऊपर से मौसम की मार टमाटर सहित पत्तेदार सब्जियों को पूरी तरह बर्बाद कर रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned