script एक जिला ऐसा भी जहां आधे से भी कम पुलिस बल | There is a district where less than half the police force | Patrika News

एक जिला ऐसा भी जहां आधे से भी कम पुलिस बल

locationछिंदवाड़ाPublished: Feb 12, 2024 06:27:55 pm

जिला बनने आधा वर्ष बीत गया है लेकिन यहां पूरी तरह से प्रशासनिक एवं पुलिस अमला की तैनाती नहीं हो पाई है। पुलिस अधीक्षक की की पदस्थापना होने के बावजूद पांढुर्ना पुलिस थाना में आधे से भी कम बल तैनात है।

rj_police.jpg
chhindwara
छिंदवाड़ा/पांढुर्ना. जिला बनने आधा वर्ष बीत गया है लेकिन यहां पूरी तरह से प्रशासनिक एवं पुलिस अमला की तैनाती नहीं हो पाई है। पुलिस अधीक्षक की की पदस्थापना होने के बावजूद पांढुर्ना पुलिस थाना में आधे से भी कम बल तैनात है। बल कमी के कारण यहां ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मी परेशान है। बल की कमी के कारण लॉ एंड आर्डर बनाए रखने में पांढुर्ना पुलिस को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर यहां राजनीतिक आयोजन बढ़ गए है। इसी तरह शहर में यातायात, सिग्नल प्वांइट पर तैनाती के साथ ही गश्त के लिए पुलिस बल की कमी से आवश्यक कार्य प्रभावित हो रहे है। थाना निरीक्षक अजय मरकाम का कहना है कि जब तहसील स्तर का थाना तब 50 का बल तैनात रहता था। जिला बनने के बाद बल की और भी कमी से जुझना पड़ रहा है। कलेक्ट्रेट में धरना, रैलियां और स्ट्रांग रूम बन गया है जहां पुलिस बल की तैनाती करनी पड़ती है। पुलिस बल बढ़ाना चाहिए।
26पदस्थ ,33 पद रिक्त
पांढुर्ना पुलिस थाना में टीआई के साथ ही कुल 6२ पद स्वीकृत है परंतु यहां सिर्फ 26 पुलिसकर्मी पदस्थ है। 33 पद रिक्त है। एसआई , एएसआई , प्रधान आरक्षक और आरक्षकों की कमी है। इससे अपराधों की जांच प्रभावित हो रही है। आए दिन एक्सीडेंट, मर्ग और जहर सेवन के मामले सामने आते है। नेशनल हाईवे 47 पर सडक़ दुर्घटनाएं होती है जिसके लिए इंस्पेक्टरों की नियुक्ति होना बहुत जरूरी है।
  • ये है स्थिति
    पद स्वीकृत पदस्थ बल कमी
    थाना निरीक्षक 1 1 0
    सब इंस्पेक्टर 9 3 5
    अति सब इंस्पेक्टर 8 2 6
    प्र. आरक्षक 12 4 8
    आरक्षक 33 16 14
    कुल 62 26 33

ट्रेंडिंग वीडियो