बेखौफ चल रहा यह धंधा, आखिर कब होगी कार्रवाई

कोयलांचल क्षेत्र में रेत की अवैध रूप से सप्लाई जारी है।

छिंदवाड़ा/वर्तमान समय में टेंडर प्रक्रिया ना होने की वजह से रेत की सप्लाई बंद है। जिसकी वजह से क्षेत्र में अफरातफरी मची हुई है लेकिन इसके बावजूद भी कोयलांचल के गुढ़ी अम्बाड़ा क्षेत्र में रेत की अवैध रूप से सप्लाई जारी है। पुलिस चौकी अम्बाडा के सामने से ट्रैक्टर बेधडक़ रेत की सप्लाई करते नजर आ रहे हैं लेकिन पुलिस का महकमा आंखें मूंद कर बैठा है। कभी कभार अगर किसी ट्रैक्टर को पकड़ लिया जाता है तो राजनीतिक दबाव की वजह सेे उसे छोड़ दिया जाता है। जुन्नारदेव से होते हुए रेत क्षेत्र में धड़ल्ले से अवैध रूप से रेत बेची जा रही है। जबकि अभी तक रेत खदानोंं का टेंडर नहीं हुआ है।
उमरेठ. रेत के अवैध उत्खनन को रोकने के लिए बीते माह क्लेक्टर श्रीनिवास शर्मा ने खदानों व नदी नालों से रेत निकालने और परिवहन पर रोक लगा दी थी लेकिन इसके बावजूद क्षेत्र में अवैध रेत से भरे ट्रैक्टर और डम्पर से दिन रात अवैध उत्खनन और परिवहन जारी है।
तहसील उमरेठ सहित, सेतपरास दमुआमाल कंरगाव, मोरडोंगरी, कोठार और सबसे अधिक ग्राम दबक मेढक़ी में अवैध खनन हो रहा है। एक दिन में दर्जनों ट्रॉली डम्पर रेत का परिवहन इन घाटों से हो रहा है। इसके बाद राजघाट का नंबर आता है, ये रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली बीच तहसील उमरेठ में से होकर निकलती है। रेत के डंपर और टैक्टर की गति को भी परिवहन विभाग लगाम नहीं लगा पा रहा है।

Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned