ये वजह है..इसलिए अभी चल निकला प्रापर्टी बाजार

हर दिन मकान,प्लॉट और कृषि भूमि की औसत 40 रजिस्ट्री कराने पंजीयन कार्यालय पहुंच रहे लोग

By: manohar soni

Updated: 10 Jun 2021, 12:22 PM IST


छिंदवाड़ा. दो माह के कोरोना कफ्र्यू के बाद अनलॉक जिले में प्रापर्टी बाजार पुन: पटरी पर लौटने लगा है। पंजीयन कार्यालय में हर दिन मकान, प्लॉट और कृषि भूमि की रजिस्ट्री करानेवाले लोग पहुंच रहे हैं। हर दिन औसत 40 रजिस्ट्री दर्ज हो रही है। बाजार में यह बूम 30 जून तक लगातार बने रहने की संभावना जताई गई है।
पंजीयन विभाग के अनुसार राज्य शासन द्वारा कोरोना कफ्र्यू में 15 मई से ही पंजीयन कार्यालय खोलने के निर्देश दिए गए थे लेकिन कार्यालय में रजिस्ट्री करने आनेवाले लोग अनलॉक के बाद ही पहुंचने शुरू हुए। तब से हर दिन पूरे 48 स्लॉट बुक हो रहे हैं और अचल संपत्ति की रजिस्ट्री हो रही है।
....
शहर समेत आसपास की जमीन में निवेश ज्यादा
प्रापर्टी बाजार के जानकारों की माने तो छिंदवाड़ा शहर समेत आसपास के इलाकों की जमीन में निवेश करने में लोगों की रुचि बढ़ती जा रही है। कोरोना कफ्र्यू के पहले ही खरीददार और विक्रेताओं में सौदे हो गए। केवल रजिस्ट्री शेष रह गई थी। अब अनलॉक होते ही लोग पंजीयन कार्यालय आने लगे। पंजीयन अधिकारी भी मानते हैं कि पंजीयन का कुल सालाना लक्ष्य का 50 फीसदी राजस्व अकेले छिंदवाड़ा शहर पूरा करता है। आधे में शेष जिले की रजिस्ट्री होती है।
....
पुरानी दर 30 जून तक,आगे निर्णय पर संशय
कोरोना संकट को देखते हुए पुराने वित्तीय वर्ष 2020-21 की संपत्ति गाइड लाइन को 30 जून तक बरकरार रखा गया है। आगे सरकार का क्या निर्णय होगा,इस पर संशय बना हुआ है। लोग इस छूट का फायदा उठाने भी पंजीयन कार्यालय पहुंच रहे हैं। गौरतलब है कि जिला संपत्ति मूल्यांकन समिति द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 से संपत्ति गाइड लाइन दर 17.50 प्रतिशत बढ़ाए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया है। इस प्रस्ताव पर अभी कोई निर्णय नहीं हो पाया है।
....
कोरोना के बावजूद पूरा होगा राजस्व लक्ष्य
अचल संपत्ति में निवेश के चलते पिछले वित्तीय वर्ष 2020-21 में पंजीयन विभाग की आय 111 करोड़ रुपए के सालाना लक्ष्य के विरूद्ध 144 करोड़ रुपए हुई थी। जबकि उस समय 70 दिन का लॉक डाउन का सामना करना पड़ा था। इस वित्तीय वर्ष में 54 दिन के कफ्र्यू के बाद जिला अनलॉक हुआ। विभागीय अधिकारी मान रहे हैं कि जिस तरह प्रापर्टी बाजार बूम कर रहा है,उससे इस वित्तीय वर्ष भी सरकारी खजाना भरने में देर नहीं लगेगी।
....
इनका कहना है..
कोरोना कफ्र्यू के बाद जिला अनलॉक होते ही 48 स्लॉट में मकान, प्लॉट और कृषि भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। मास्क और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करवाने में विभाग सजग है।
-वीएन डेहरिया, उपपंजीयक पंजीयन विभाग।

manohar soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned