Women: कानून कड़े जिसके कारण कम हुए महिलाओं पर अत्याचार

महिलाएं घर में और बाहर सुरक्षित रहे इसके लिए कड़े कानून बनाए गए और पुलिस को महिलाओं से जुड़े मामलों में तत्काल कार्रवाई के निर्देश मिले हैं।

By: babanrao pathe

Published: 23 Apr 2020, 03:52 PM IST

छिंदवाड़ा. महिलाएं घर में और बाहर सुरक्षित रहे इसके लिए कड़े कानून बनाए गए और पुलिस को महिलाओं से जुड़े मामलों में तत्काल कार्रवाई के निर्देश मिले हैं। पुलिस भी इन मामलों को गंभीरता से ले रही है, इसके चलते जिले में महिलाओं से छेड़छाड़, ज्यादती, दहेज प्रताडऩा और अपहरण के मामलों में कमी आई है।

महिलाओं से जुड़े मामलों को जल्द निपटाने के लिए महिला सेल का गठन किया गया है। शहर में छेड़छाड़ की वारदात को रोकने के लिए निर्भया पुलिस मोबाइल वैन चलाई जा रही है। स्कूल, कॉलेज और सार्वजनिक स्थानों पर निर्भया पुलिस मोबाइल वैन लगातार गश्त करती है, जिससे छेड़छाड़ की वारदात में कमी आई है। 24 थाना और 19 पुलिस चौकी में दर्ज किए गए महिला सम्बंधित अपराध के अंाकाड़ों से इस बात का खुलासा हो रहा है कि पिछले कुछ साल में महिला सम्बंधित अपराध में कमी दर्ज हुई है।
दिल्ली की घटना के बाद सख्त हुआ कानून

दिल्ली में फिजियोथैरेपी कॉलेज की एक छात्रा के साथ बस में हुए गैंगरेप और ग्वालियर में एक स्कूली छात्रा के साथ गैंगरेप की वारदात के बाद कानून सख्त किए गए। महिलाओं से जुड़े मामलों में कार्रवाई तेज की गई।
ऐसे किए सख्त कानून
-छेड़छाड़ को गैर जमानती अपराध माना जाता है। पहले यह जमानती था।
-महिलाओं को छुपकर देखना, पीछा करना, कमेंट करना भी अब अपराध की श्रेणी में शामिल है।
-महिलाओं से जुड़े मामलों में पुलिस जल्द कार्रवाई कर कोर्ट में मामला पेश कर रही है।
-ऐसे अपराधों पर जल्द फैसला सुनाने के लिए फास्र्ट कोर्ट की व्यवस्थाएं की गई हैं।
-महिला सेल का गठन किया गया, इसके अलावा निर्भया मोबाइल वैन चलाई जा रही।
-दहेज प्रताडऩा के मामलों को सुलझाने के लिए परिवार परामर्श केंद्र को सक्रिय किया।
फैक्ट फाइल

वर्ष ज्यादती छेड़छाड़ दहेजप्रताडऩा
2017 234 369 190
2018 199 230 42
2019 106 128 76
नोट:- सभी आंकड़े पुलिस के मुताबिक है
लोगों में जागरुकता आई
महिलाओं और युवतियों से जुड़े अपराध को लेकर लोगों में जागरुकता आई है। बच्चों के माता-पिता भी पहले की तुलना में गम्भीर हुए हैं। ग्रामीण इलाकों में सुधार की आवश्यकता है। छिंदवाड़ा में अन्य शहरों की तुलाना में स्थिति काफी अच्छी है।
-डब्ल्यूएस ब्राउन, परामर्शदात्री, छिंदवाड़ा

Show More
babanrao pathe Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned