Tourism Festival: पातालकोट को मिलेगी नई पहचान

पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद की बैठक में निर्णय, पर्यटन बोर्ड से मांगेंगे 35 लाख का बजट

By: prabha shankar

Published: 14 Oct 2021, 11:14 AM IST

छिंदवाड़ा। तामिया के पातालकोट में आगामी 15 से 25 दिसम्बर के बीच पातालकोट पर्यटन महोत्सव आयोजित किया जाएगा। इसके लिए अनुमानित व्यय की राशि 35 लाख रुपए का बजट प्रस्ताव मप्र टूरिज्म बोर्ड को भेजा जाएगा। यह निर्णय जिला पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद की प्रबंधकारिणी समिति की बैठक में लिया गया।
कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन की अध्यक्षता में हुई बैठक में एडवेंचर एजेंसी का चयन करने के लिए एक बार प्री-बिड मीटिंग आयोजित कर निविदा जारी करने और इस आयोजन के सहयोगी विभाग/व्यक्तियों की पृथक से बैठक करने का निर्णय लिया गया। समिति सदस्य नगेंद्र गढ़ेवाल ने बताया कि जिला स्तर की एक डाक्यूमेंट्री बुक का ड्राफ्ट लगभग तैयार हो गया है जिसे अंतिम रूप दिया जाना है। इस प्रस्ताव पर समिति के अध्यक्ष द्वारा डाक्यूमेंट्री बुक के ड्राफ्ट का अवलोकन कराए जाने के बाद अंतिम रूप दिए जाने का निर्णय लिया गया।
बैठक में सचिव एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत हरेंद्र नारायण, एसडीओ वनविभाग अनादि बुधोलिया समेत अन्य अधिकारी और नामांकित सदस्य विनोद तिवारी, नगेन्द्र गढ़ेवाल, पवन श्रीवास्तव, संजय राय व रामकृष्ण इंगले उपस्थित थे ।

पत्रिका ने उठाया पर्यटन विकास का मुद्दा
जिले में तामिया और देवगढ़ में पर्यटन गतिविधियां शुरू करने का मुद्दा पत्रिका द्वारा लगातार उठाया गया और पर्यटकों को सुविधाएं दिए जाने पर प्रशासन का ध्यान आकर्षित किया गया। फलस्वरूप पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद की बैठक में निर्णय लिए गए। इसके साथ ही उत्साहवर्धक तरीके से पातालकोट महोत्सव के लिए भी प्रस्ताव पास किया गया।

बैठक में यह भी लिए गए निर्णय
- जिला पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद के नाम में परिवर्तन कर संस्कृति शब्द जोडते हुए संस्था का नाम जिला पुरातत्व, पर्यटन एवं संस्कृति परिषद किए जाने का प्रस्ताव पास।
- तामिया स्थित भवन को 30 वर्षो के लिए लीज/लाइसेंस फीस पर दिए जाने और पातालकोट स्थित कैम्प साइट को वार्षिक किराया के आधार पर दिया जाएगा।
- समिति सदस्य पवन श्रीवास्तव के प्रस्ताव पर पातालकोट स्थित कैम्प साइट को आउटसोर्स की प्रक्रिया होने तक आम सहमति से ग्राम पंचायत कारेआम रातेड को सौंपा जाएगा।
- पर्यटन विभाग के अधीन लोक निर्माण विभाग के ईएलसी चौक के पास स्थित रेस्ट हाउस भवन को नगरपालिक निगम को कार्यालयीन उपयोग के लिए अस्थाई रूप से दिया गया।
- देवगढ़ में रेस्ट हाउस के पास आरक्षित शासकीय भूमि में म्यूजियम, चिल्ड्रन पार्क और पर्यटक सुविधा केन्द्र सभी एक ही स्थान में विकसित करने का प्रस्ताव जिला खनिज निधि/अन्य सीएसआर फंड से स्वीकृत किया जाएगा।
- तामिया स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस के समीप स्थित रिक्त शासकीय भूमि पर सनसेट व्यू पांइट को विकसित किये जाने की जिम्मेदारी पीडब्ल्यूडी को।
- जिला मुख्यालय में स्थित लोक निर्माण विभाग का रेस्ट हाउस भवन रूरल हाट के रूप में विकसित किए जाने का प्रस्ताव।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned