व्यापारियों ने प्रस्तुत की मिसाल...कोरोना मुक्ति के लिए लिया यह निर्णय, पढ़ें खबर

कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण लगाने सराफा व्यवसाय बंद, व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों को 19 सितम्बर तक बंद रखने लिया निर्णय

By: Dinesh Sahu

Published: 12 Sep 2020, 11:52 AM IST

छिंदवाड़ा/ कोरोना महामारी पर नियंत्रण लगाने और संक्रमण से सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए छिंदवाड़ा के सराफा व्यापारियों अच्छी पहल शुरू की है, जिसमें 11 से 19 सितम्बर 2020 तक सराफा व्यवसाय पूरी तरह बंद रखने का निर्णय लिया गया है। इसके चलते पहले दिन शुक्रवार को जिले के कई सराफा प्रतिष्ठान बंद रखे गए। जिला सराफा व्यापारी संगठन के जिलाध्यक्ष नरेंद्र साहू ने बताया कि उक्त प्रयास सभी के स्वास्थ्य की सुरक्षा को देखते हुए किए जा रहे है, जिसमें छिंदवाड़ा के साथ-साथ प्रदेश के विभिन्न जिलों से भी समर्थन मिल रहा है।

कोरोना की चेन तोडऩे स्वेच्छिक बंद का व्यापारियों ने लिया निर्णय

जिले में तेजी से फैल रहे संक्रमण और कोरोना की चेन को तोडऩे के उद्देश्य से व्यापारी संगठनों ने 13 से 20 सितम्बर 2020 तक अपने-अपने प्रतिष्ठानों को पूरी तरह से स्वेच्छिक रूप से बंद करने बहुमत से निर्णय लिया है। इस संदर्भ में विभिन्न व्यापारी संगठनों के पदाधिकारियों ने दीनदयाल रसोई में सामूहिक बैठक कर सहमति जताई है।

अनाज व्यापारी संघ के जिलाध्यक्ष प्रतीक शुक्ला ने बताया कि नगर के कई क्षेत्रों में संक्र्रमण फैल गया है तथा कुछ व्यापारी बीमारी को छिपाकर नागपुर उपचार के लिए जा रहे है, जिससे बीमारी का खतरा और बढ़ गया है। इसका समाधान सामूहिक रूप से व्यावयास को बंद रखने से निकल सकता है, जिसमें सभी की सहमति मिली है। उन्होंने बताया कि यह एक स्वेच्छिक निर्णय है, जिसमें सभी अपना प्रतिष्ठान बंद रखेंगे तथा जो व्यापारी ऐसा नहीं करेगा संगठन उसके साथ कभी सहयोग नहीं करेगा।

इस अवसर पर छिन्दवाड़ा अनाज व्यापारी संघ, गांधी गंज व्यापारी मंडल, सराफा व्यवसायी संघ, कपड़ा व्यवसायी संघ, रिटेल किराना संघ, ऑइल मिल एसोसिएशन, ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन, शनिचरा बाजार दुर्गा उत्सव समिति तथा मोबाइल एसोसिएशन समेत अन्य व्यापारिक संगठन व पदाधिकारी मौजूद थे।

COVID-19
Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned