समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी के लिए इन नियमों की होगी बाध्यता

समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी के लिए इन नियमों की होगी बाध्यता
Training given to computer operators

Prabha Shankar Giri | Updated: 24 Mar 2019, 11:37:11 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

इस बार तीन दिन में करना होगा अनाज का परिवहन

छिंदवाड़ा. समर्थन मूल्य पर इस बार होने वाली गेहूं खरीदी पर पूरा नियंत्रण भोपाल से रखा जाएगा। पूरा सिस्टम ऑनलाइन किया गया है और अब स्थानीय एजेंसिया किसी भी तरह से लापरवाही नहीं बरत सकेंगी। इस बार नियमों में भी फेरबदल किया है और गेहूं की खरीदी के तीन दिन में उसका परिवहन समिति के गोदाम से करने के निर्देश दिए गए हैं। इस बार खरीदी में समितियों के ऑपरेटरों की प्रमुख भूमिका रहेगी। नए निर्देशों की जानकारी देने के लिए उन्हें प्रशिक्षण दिया गया। भोपाल से तकनीकी अधिकारियों ने उनसे सीधे चर्चा की।
ध्यान रहे इस बार भी समर्थन मूल्य पर सरकार को गेहूं बेचने वाले किसानों को दो हजार रुपए प्रति क्विंटल की दर से भुगतान किया जाना है। केंद्र ने इस साल गेहूं का समर्थन मूल्य 1835 रुपए प्रति क्विंटल तय किया है। राज्य शासन ने उसमें 165 रुपए अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि देते हुए दो हजार रुपए प्रति क्विंटल कर दिया है। यह दर उन्हीं किसानों को मिलेगी जिन्होंने समितियों में पंजीयन कराया है। इस बार सभी मंडियों में भी खरीदी केंद्र बनाए गए हैं।

गोदामों में होगी खरीदी
प्रशासन ने परिवहन की झंझट से बचने और परिवहन व्यय को बचाने के लिए गोदामों ही गेहूं खरीदी करने का निर्णय लिया है। पिछले साल भी इसी तर्ज पर खरीदी की गई थी। किसानों की संख्या के आधार पर कम से कम दो समितियों से जुड़े किसान गोदामों में ही अनाज लाएंगे। वहां समितियों के प्रबंधक और कम्प्यूटर ऑपरेटर भी रहेंगे। इससे खरीदी के बाद की औपचारिकताएं जल्द हो सकेंगी तो परिवहन की झंझट से भी मुक्ति मिलेगी।

98 केंद्रों को खरीदी में किया शामिल
प्रशासन ने जिले के 98 खरीदी केंद्रों के जरिए गेहूं की खरीदी का निर्णय लिया है। जरूरत पड़ी तो कुछ और केंद्रों को खरीदी के लिए शामिल किया जा सकता है। ध्यान रहे पिछले वर्ष गेहूं की खरीदी काफी कम हुई थी। 55 हजार से ज्यादा किसानों ने पंजीयन कराया था, लेकिन 25 हजार से भी कम किसानों ने गेहूं बेचा था। इस बार भी पंजीयन कराने वाले किसानों की संख्या 57 हजार पहुंच गई है। अब देखना है कितना गेहूं सरकार को बेचा जाता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned