health: मरीजों से वसूल भरेगा शासकीय अस्पताल का खजाना, जानें पूरा मामला

एपीएल कार्ड धारकों पर बढेग़ा भार, डिफाल्टर दुकानदार को जारी होगा खाली करने नोटिस

By: Dinesh Sahu

Updated: 03 Dec 2019, 11:25 AM IST

छिंदवाड़ा/ जिला अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों की जेब पर अब आर्थिक बोझ बढऩा है। इसकी वजह निशुल्क मिलने वाली विभिन्न जांचों के लिए अब पैसे देना बताया जाता है। कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में सोमवार को कलेक्टर डॉ. श्रीनिवास शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित रोगी कल्याण समिति की बैठक में विभिन्न निर्णय लिए गए तथा समिति की आय बढ़ाने के लिए विभिन्न सेवाओं पर शुल्क लगाया गया है। इसके तहत सोनोग्राफी, एक्स-रे, पैथालॉजी, इसीजी, आइसीसीयू आदि जांच के लिए 100 से 500 रुपए तक मरीजों को भुगतान करना पड़ेगा।

हालांकि यह शुल्क एपीएल कार्ड धारकों पर लागू होगा। सिविल सर्जन डॉ. पी. कौर गोगिया ने बताया कि नियमित किराया नहीं देने वाले डिफाल्टर दुकानदारों को किराया भुगतान करने अथवा दुकान खाली करने के लिए नोटिस दिया जाएगा। वहीं आरकेएस के तहत कार्यरत डॉक्टर और कर्मचारियों के मानदेय बढ़ाने तथा वॉटर एटीएम मशीन स्थापित करने के प्रस्ताव को फिलहाल टाल दिया गया है।

इसके अलावा समिति ने कोई नवीन नियुक्तियां, निर्माण कार्य, सुविधा, सार्वजनिक शौचालय आदि के कार्यों पर कोई भी निर्णय नहीं लिया है। इस अवसर पर एसडीएम अतुल सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शरद बंसोड़, सिविल सर्जन डॉ. गोगिया, समिति सदस्य चंदू जैन सहित अन्य प्रमुखता से मौजूद थे।

साधारण समिति लागू करने लेगी निर्णय -

रोगी कल्याण समिति की बैठक में लिए गए विभिन्न निर्णयों को लागू करने से पहले प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित साधारण सभा की बैठक में पास कराना अनिवार्य होगा, जिसके बाद ही शुक्ल लग सकेंगे। हालांकि कलेक्टर द्वारा आरकेएस द्वारा किए गए खर्च तथा निर्णयों का अनुमोदन कर दिया गया है। साथ ही आरकेएस की नियमावली के तहत एसडीएम छिंदवाड़ा को सदस्य नामांकित किया गया है।

बैंक एटीएम पर नहीं रखी गई कोई बात -

जिला अस्पताल के मुख्य गेट क्रमांक-2 पर स्थित बैंक एटीएम का किराया विगत कई वर्षों से भुगतान नहीं किया गया है। इसके बावजूद समिति में इस संदर्भ में कोई चर्चा नहीं की गई। हालांकि करीब 18 दुकानदारों द्वारा किराया नहीं दिए जाने पर नोटिस जारी करने की बात कही गई है।

इन पर शुल्क लगेगा -


1. सोनोग्राफी जांच के लिए प्रति जांच - 200 से 300 रुपए

2. एक्स-रे जांच के लिए प्रति जांच - 50 से 100 रुपए
3. पैथालॉजी के लिए प्रति जांच - 50 से 100 रुपए

4. इसीजी जांच के लिए प्रति जांच - 50 से 100 रुपए
5. आइसीसीयू में भर्ती के लिए - 300 से 400 रुपए

Show More
Dinesh Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned