दो दिन नामी वैज्ञानिक मक्का पर साझा करेंगे विचार

दो दिन नामी वैज्ञानिक मक्का पर साझा करेंगे विचार

Sandeep Chawrey | Publish: Sep, 07 2018 11:50:21 AM (IST) Chhindwara, Madhya Pradesh, India

छिदंवाड़ा में दो दिन का राष्ट्रीय मक्का फेस्ट

छिंदवाड़ा. मक्का के उत्पादन और उसकी गुणवत्ता के आधार पर प्रदेश और देश में नाम कमाने वाले छिंदवाड़ा जिले में इस महीने पूरे देश के कृषि विशेषज्ञ और मक्का के अनुसंधान में जुटे वरिष्ठ और अनुभवी वैज्ञानिक अपने विचार साझा करने एकजुट होंगे। इसी महीने की २९ और ३० तारीख को जिला मुख्यालय पर मक्का विषय पर राष्ट्रीय सेमिनार में ये वैज्ञानिक उपस्थित रहेंगे। राष्ट्रीय स्तर का यह आयोजन दशहरा मैदान पर होगा। दो दिन तक विभिन्न सत्रों में जहां मक्का उत्पादन, उसकी उपयोगी किस्मों, उत्पादन की तकनीकों पर विशेष जानकारी तो ये किसानों को देंगे ही इसके अनुसंधान पर आपसी विचार-विमर्श भी करेंगे। मक्का के अनुसंधान में शीर्ष वैज्ञानिकों की आपसी चर्चा से दो दिनी सेमिनार में मक्का पर और नई सम्भावनाओं के मिलने की उम्मीद लगाई जा रही है। ध्यान रहे जिला प्रशासन यह आयोजन कर रहा है। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। सेमिनार में विशेष वक्ताओं को आमंत्रण दे दिया गया है।
दिल्ली और पंजाब से आएंगे विशेष वक्ता
दो दिन के इस आयोजन में दिल्ली और पंजाब स्थित अनुसंधान संस्थान से विशेषज्ञ यहां आएंगे। आईसीएआर, आईएमआर पंजाब के डायरेक्टर डॉ. सुजय रक्षित, आईआईएमआर दिल्ली के सीनियर साइंटिस्ट डॉ. एसएल जाट, मक्का विषय के हेड एंड रिसर्च साइंटिस्ट डॉ. एसएम कानोरकर नेशलन फेस्टिवल में शिरकत करेंगे तो वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. गनपति मुकरी, डॉ. रमेश फगना, डॉ. सांईदास दिल्ली और डॉ. भूपेंद्र कुमार लुधियाना पंजाब से यहां आएंगे। इसके अलावा छिंदवाड़ा स्थित जेडएआरएस के मुख्य वैज्ञानिक और मक्का विशेषज्ञ डॉ. वीके पराडकर भी अपना वक्तव्य देंगे।
फील्ड भीदेंखेंगे वैज्ञानिक और इन्वेस्टर
गौरतलब है दो दिनी राष्ट्रीय महोत्सव के दौरान यहां आने वाले वैज्ञानिकों, कृषि विशेषज्ञों और आने वाले उद्योगपतियों को मक्का क्षेत्र का भ्रमण भी कराया जाएगा। उद्योगपतियों को इस फील्ड दिखाने का मकसद इसकी खेती में किए जा रहे नए प्रयोग, बढ़ रहे रकबे उसकी गुणवत्ता की जानकारी भी दी जाएगी ताकि यहां के होने वाले मक्का को राष्ट्रीय स्तर पर और अच्छा बाजार मिल सके।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned