बैलगाड़ी से पीने का पानी लाने को मजबूर ग्रामीण

बैलगाड़ी से पीने का पानी लाने को मजबूर ग्रामीण

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 22 May 2020, 05:51 PM IST

पारडसिंगा . ग्राम पंचायत पारडसिंगा के वार्ड क्रमांक 13 के वार्डवासियों ने 10 सितंबर 2015 को पेयजल समस्या को लेकर एक आवेदन दिया था, लेकिन पांच साल बीत जाने के बाद भी पेयजल की समस्या को हल किए जाने की दिशा में स्थानीय प्रशासन ने कोई कारगर कद नहीं उठाए। बहरहाल, तपती दोपहर में लोग लम्बी दूरी से बैलगाड़ी की मदद से पेयजल की व्यवस्था कर रहे हैं।
जानकारी के अनुसार दो दिन पूर्व भी वार्ड क्रमांक-13 के रहवासियों ने पेयजल की समस्या को लेकर ग्राम पंचायत पारडसिंगा के सचिव कमलाकर बोबड़े को एक आवेदन देकर स्थिति से अवगत था। वार्डवासी हिमांशु गोखले, राजू घुगल, रामदास बावने, आकाश ताजने, पंढरी वडसकार, चंद्रकांत वडसकार, वामन टेकाडे, प्रवीण ठाकरे, मुरलीधर वैद्य, रमेश वाडेकर, बबन काले, गंगाधर बोडखे, योगेश टेकाडे, यमुना बावने, सुनीता बोबडे, दशरथ बोरकुटे आदि का कहना है कि वार्ड-१३ में रहने वाले सभी लोगों को अपने घर के लिए बाहर से पानी लाना पड़ता है, क्योंकि नलों में पानी नहीं आने के कारण एवं पंप चालक द्वारा इस वार्ड में महज 10 या 15 मिनट पानी की आपूर्ति की जाती है। ऐसे में 10-15 मिनट में वार्डवासियों को पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिल पाता।
इस वार्ड की समस्या को देखते हुए ग्राम पंचायत सचिव ने 21 मई वार्ड में पहुंचकर समस्या का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि इस वार्ड के पाइंट पर दो चाबी लगाई जाएंगी, जिससे इस वार्ड की पानी की समस्या का निराकरण किया जा सकता है। अब यह देखना है कि ग्राम पंचायत से कितने समय में पानी की समस्या का निराकरण किया जाता है नहीं तो वार्डवासी जनपद पंचायत तथा पीएचइ विभाग को ज्ञापन सौंपकर इस समस्या से अवगत कराएंगे।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned