माइनिंग टीम ने खोला कम प्रोडक्शन की राज

माइनिंग टीम ने बताई विष्णुपुरी खदान की कमियां

By: prabha shankar

Published: 04 Apr 2019, 10:54 AM IST

छिंदवाड़ा/ परासिया. काम के दौरान क्या परेशानी आ रही है यह जानने के लिए एक निरीक्षण कमेटी ने विष्णुपुरी खदान दौरा किया। बीएमएस महामंत्री कुंवर सिंह ने बताया कि इस दौरान खदान में सुरक्षा के मानकों की अनेदखी सामने आई है।
निरीक्षण में पाया गया कि माइन में कन्वेयर वेल्ट का क्लीनिंग कार्य नहीं किया जा रहा है। इसके अलावा ट्रेव्हलिंग रोड में लाइटिंग व्यवस्था नहीं है। सपोर्ट सिस्टम भी संतोषजनक नहीं मिला। खदान में बने मेनहोल में अन्य सामग्री रखी हुई थी, उसे हटाने का और एक सीम में चार डिप का ड्रिफ्ट में लेज का सपोर्ट नहीं था। इससे उसके टूटने की आशंका बनी हुई है। टीम ने लेज का सपोर्ट गार्डर द्वारा कराए जाने का सुझाव दिया है। इसके अलावा एसडीएल मशीन ठीक नहीं होने के कारण विष्णुपुरी-2 में चल रहा ड्रिप्टिंग कार्य प्रभावित हो रहा है।
यदि प्रबंधन द्वारा नया एसडीएल कन्वेयर वेल्ट स्ट्रेक्चर इत्यादि सामग्री उपलब्ध कराई जाती है तो विष्णुपुरी-2 में लक्ष्य से अधिक उत्पादन किया जा सकता है। इसके अलावा सुरक्षा की दृष्टि से डब्ल्यू स्टेप पर्याप्त मात्रा में नहीं है, जिसकी अधिक जरूरत है। सप्लाई की जाने वाली सपोर्ट रॉड का थ्रेड ठीक नहीं होने के कारण एंकर टेस्टिंग के समय थ्रेेड स्लिप हो रहा है जो सुरक्षा की दृष्टि से ठीक नहीं है। इन सभी मुद्दों पर प्रबंधन एवं श्रम संघ के बीच विचार-विमर्श किया गया।
निरीक्षण टीम में प्रमोद कुमार जैन, कन्हैया सिंह, करण सिंह रघुवंशी, संजय बावरिया, चौखेदास वैष्णव, त्रिपक्षीय सुरक्षा समिति सदस्य इलाही बक्श, कुंवर सिंह शामिल रहे। निरीक्षण के दौरान उपक्षेत्रीय प्रबंधक सिन्हा, प्रबंधक एके सिंह, सुरक्षा अधिकारी पीके साहनी उपस्थित रहे।

prabha shankar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned