जलसंकट :  आठ दिनों के अंतराल में एक बार पेयजल सप्लाई

नगर के 21 वार्डो में निवासरत लगभग 40 हजार लोगों को आठ से दस दिनों के अंतराल में पानी मिल रहा है। जिसके कारण लोगों की मुश्किलें बढऩे लगी है। 

छिंदवाड़ा (परासिया). ग्रीष्मकाल के दस्तक देते ही शहर में पानी का संकट गहराने लगा है। नगर के 21 वार्डो में निवासरत लगभग 40 हजार लोगों को आठ से दस दिनों के अंतराल में पानी मिल रहा है। जिसके कारण लोगों की मुश्किलें बढऩे लगी है। 

हालत यह है कि तकनीकी अथवा विद्युत सप्लाई बाधित होने पर यह अंतराल और बढ़ जाता है और लोगों की नाराजगी का सामना जलप्रदाय विभाग के कर्मचारियों को करना पड़ता है। पिछले वर्ष लगभग तीस लाख रुपए पानी उपलब्ध कराने पर व्यय किए है। 

 पानी के इस संकट के पीछे नगर पालिका का प्रबंधन भी जिम्मेदार है। उपयंत्री जलप्रदाय विभाग के प्रभारी है पर काम के बोझ से वह इस तरफ पर्याप्त ध्यान नहीं दे रहे हैं। प्रतिवर्ष पानी की समस्या रहती, लेकिन नगर पालिका जलप्रदाय विभाग इसकी पूर्व तैयारी नहीं करता है, स्टोर में लगभग एक दर्जन से अधिक मोटर पम्प उपकरण खराब पड़े हैं पर इनकी मरम्मत की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हो पाई है।

नगर पलिका के अधिकांश बोर ग्राम खिरसाडोह में है जहां से नगर को पानी सप्लाई किया जाता है। नगर पालिका के पास 17 बोर हैं। जिनमें से मात्र 6 बोर से पानी सप्लाई किया जा रहा है। चार बोर में मोटर नहीं है और दो बोर में मोटर गिरने से बंद है। स्टोर में दर्जनों मोटर मरम्मत के लिए रखी हुई है। 75 एचपी की एक मोटर है पर खराब होने पर वैकल्पिक व्यवस्था का इंतजाम नहीं है। 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned