scriptWater supply: Water loss will decrease | Water supply: घटेगा लॉस, निगम ने पूरी की तैयारी | Patrika News

Water supply: घटेगा लॉस, निगम ने पूरी की तैयारी

32 हजार परिवारों के पेयजल की व्यवस्था में होगा सुधार, निगम ने भेजा जलजीवन मिशन को 40 साल पुरानी ग्रेविटी पाइपलाइन बदलने का प्रस्ताव

छिंदवाड़ा

Published: August 04, 2021 10:49:41 am

छिंदवाड़ा। शहर की जीवन रेखा मानी जाने वाली कन्हरगांव डैम की ग्रेविटी पाइप लाइन को बदलने की तैयारी चल रही है, नगर निगम द्वारा जलजीवन मिशन डायरेक्ट्रेट को इसके बदलने का प्रस्ताव भेज दिया गया है। जिसके अप्रूवल के बाद निगम करीब 25 करोड़ के खर्च से ग्रेविटी पाइल लाइन को बदलना शुरू कर देगा। इस कार्य को जल्दी करने की जरूरत है, ताकि कन्हरगांव ग्रेविटी लाइन से हो रहे पानी के क्षय को कम किया जा सके। बता दें कि कन्हरगांव डेम की ग्रेविटी लाइन से रॉवाटर सप्लाई भरतादेव फि ल्टर प्लांट तक पहुंचता है, भरता देव फिल्टर प्लांट की क्षमता 27 एमएलडी पानी को फिल्टर करने की है, लेकिन करीब 17 किमी से अधिक दूरी से आ रही ग्रेविटी पाइप लाइन के जर्जर एवं जगह-जगह से लीकेज होने के कारण करीब 20-21 एमएलडी रॉवाटर ही फिल्टर प्लांट तक पहुंच पाता है। जिसके चलते फिल्टर प्लांट के द्वारा सप्लाई होने वाला पानी टंकियों में लगातार ही भरता है। जिससे शहर के अलग अलग क्षेत्रों में पूरे दिन ही पानी सप्लाई होती रहती है। ग्रेविटी लाइन इतनी जर्जर हो चुकी है कि यदि डैम से पूरी क्षमता से पानी भेज दिया जाए पाइप लाइन फूटने का खतरा रहता है, साल में आठ माह निगम का पेयजल विभाग इन्हीं पाइप लाइन के रिपेयर के काम में जुटा रहता है।

chhindwara
chhindwara

बिना बिजली खपत के पहुंचता है पानी
कन्हरगांव डैम से फिल्टर प्लांट तक रॉवाटर की सप्लाई बिना किसी बिजली खर्च के ही पहुंच जाता है, डैम की क्षमता, 23 एमसीएम की है, जिसमें से 7 एमसीएम से अधिक पानी शहर की पेयजल सप्लाई के लिए रिजर्व रहता है, डैम प्रभारी अनुभाग अधिकारी एआर खान ने बताया कि 1985 से पानी निगम को दिया जा रहा है, वर्तमान में 5.95 एमसीएम पानी उपलब्ध है, डैम की मिनिमम क्षमता 706.22 मीटर एवं अधिकतम भराव 713.80 मीटर है।


इनका कहना है

रॉवाटर पाइपलाइन जर्जर हो चुकी थी, कुलबेहरा नदी से पानी लेने के दौरान के समय को छोडकऱ शेेष दस माह लगातार लीकेज रिपेयर किए जाते रहे हैं। पाइप लाइन को बदलना जरूरी।
रमेश सहस्त्रबुद्धे, पूर्व जलकार्य प्रभारी सेवानिव़ृत उपयंत्री

जर्जर हो चुकी ग्रेविटी पाइप लाइन को बदलने का प्रस्ताव बनाकर कर जलजीवन मिशन डायरेक्ट्रेट को भेजा गया है। अप्रूवल आते ही अगली कार्यवाई जल्द होगी।
हिमांशु सिंह, आयुक्त नगर निगम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दमरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.