Weather: मौसम मेहरबान, भारी बारिश से उफनाए नदी-नाले

तेज बारिश का सिलसिला रविवार को भी नहीं थमा।

By: ashish mishra

Published: 24 Aug 2020, 12:04 PM IST

छिंदवाड़ा. जिले मे मौसम मेहरबान है। शहर एवं आसपास के क्षेत्रों में रुक-रूककर तेज बारिश का सिलसिला रविवार को भी नहीं थमा। ऐसे में नदी-नाले भी उफना गए वहीं नीचले बस्तियों में पानी भर गया भारी बारिश के चलते कच्चे मकान की दीवारें भी खिसकने लगी हैं। वहीं शहर में कई जगह सडक़ों पर भी लबालब पानी भर गया। इससे पहले रविवार सुबह सुर्य देवता निकले। हालांकि दोपहर बाद मौसम फिर बदल गया। बादल छाए और रिमझिम बारिश होने लगी। इसके बाद पूरे दिन कभी हल्की तो कभी तेज बारिश हुई। बारिश का सिलसिला देर रात तक जारी रहा। मौसम विभाग ने अभी एक से दो दिन कुछ क्षेत्रों में तेज बारिश की संभावना जताई है। रविवार को अधिकतम तापमान 27.3 एवं न्यूनतम 23.2 डिसे रिकॉर्ड किया गया। जिले में अब तक 775.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। जबकि गत वर्ष इस अवधि तक 627.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई थी। जिले में 23 अगस्त को सुबह 8 बजे समाप्त 24 घंटों के दौरान 18.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। भू-अभिलेख अधीक्षक ने बताया कि रविवार सुबह 8 बजे समाप्त 24 घंटो के दौरान तहसील छिंदवाड़ा में 58.2, मोहखेड़ में 28.4, तामिया में 26, अमरवाड़ा में 14.2, चौरई में 3.2, हर्रई में 13, बिछुआ में 2.6, परासिया में 20.4, जुन्नारदेव में 25.2, चांद में 6.1 और उमरेठ में 40.6 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि जिले में एक जून से अभी तक तहसील छिंदवाड़ा में 679.5, मोहखेड़ में 826.6, तामिया में 828, अमरवाड़ा में 854, चौरई में 952.6, हर्रई में 571, सौंसर में 729.7, पांढुर्णा में 727.2, बिछुआ में 724.8, परासिया में 788.2, जुन्नारदेव में 1011.6, चांद में 657.1 और उमरेठ में 729 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।


कच्चे मकान की दीवार गिरी
भारी बारिश के चलते तामिया के गांव कुमड़ी में शनिवार रात आदिवासी तिनसा कोड़ोपा के कच्चे मकान की दीवार गिर गई। हालांकि इस हादसे में कोई जनहानी नहीं हुई। तिनसा ने बताया कि रात में परिवार के सदस्य खाना खाने के बाद सोने जाने वाले ही थे कि बारिश के चलते दीवार का अगला हिस्सा गिर गया।

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned