scriptWheat procurement: तिथि बढ़ाने पर भी सरकारी गोदामों में नहीं आया पर्याप्त गेहूं | Patrika News
छिंदवाड़ा

Wheat procurement: तिथि बढ़ाने पर भी सरकारी गोदामों में नहीं आया पर्याप्त गेहूं

– पिछले साल के मुकाबले 50 प्रतिशत खरीदी
– अभी तक 50.88 करोड़ रुपए का भुगतान

छिंदवाड़ाJun 21, 2024 / 05:37 pm

prabha shankar

Wheat procurement

Wheat procurement

गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी की तिथि में वृद्धि जरूर की गई है, लेकिन किसान इस सीजन में सरकारी गोदामों को पर्याप्त गेहूं नहीं दे पाए हैं। अभी तक पिछले साल 2023 के मुकाबले 50 प्रतिशत खरीदी हो पाई है। इससे सरकारी एजेंसियों की चिंता झलक रही है। खाद्य आपूर्ति विभाग की जानकारी के मुताबिक इस साल रबी विपणन वर्ष 2024-25 में 38969 किसानों का पंजीयन हुआ था। इनमें से अब तक 2866 किसान खरीदी केन्द्र तक पहुंच पाए।
उन्होंने 2400 रुपए क्विंटल के भाव से अब तक 2.58 लाख क्विंटल गेहूं बेचा। इनका परिवहन 99 फीसदी तक हो चुका है। सरकार की ओर से 50.88 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान किसानों के खातों में किया गया है।
हालांकि अभी गेहूं उपार्जन की तिथि 25 जून तक है। खरीदी केन्द्र प्रभारी बता रहे हैं कि बाजार भाव में तेजी के चलते किसान सीधे कृषि मंडी या व्यापारियों को सीधे बेच रहे हैं। किसान अप्रेल-मई में 90 फीसदी गेहूं बेच चुके हैं, इसलिए अब समितियों में आवक न के बराबर हो गई है। फिर भी अंतिम तिथि तक उनके लिए गेहूं बेचने का अवसर है।

कृषि विज्ञान केंद्र में जीवामृत और बीजामृत इकाई विक्रय केंद्र शुरू

कृषि विज्ञान केंद्र में जीवामृत, बीजामृत इकाई विक्रय केन्द्र का शुभारंभ गुुरुवार को कृषि वैज्ञानिकों और अधिकारियों ने किया। इससे पहले कृषि विज्ञान केंद्र छिंदवाड़ा एवं देलाखारी तामिया के संयुक्त तत्वावधान में वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. संजय वैसंपायन, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने की। डॉ. डीसी श्रीवास्तव, डॉ. एसके अहिरवार, डॉ. संजय वैसंपायन,उद्यानिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ वी के पराडकऱ, डॉ. विजय कुमार वर्मा ने खेती से संबंधित जानकारी दी। उपसंचालक कृषि जितेंद्र सिंह ने जिले में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने, जैविक उत्पादों के विक्रय केंद्र बनाने की बात कहीं। कार्यक्रम में नितेश कुमार गुप्ता, एसएल अलावा चंचल भार्गव आदि उपस्थित रहे।

Hindi News/ Chhindwara / Wheat procurement: तिथि बढ़ाने पर भी सरकारी गोदामों में नहीं आया पर्याप्त गेहूं

ट्रेंडिंग वीडियो