scriptWorld Forestry Day... from this forest produce, two-thirds of the popu | World Forestry Day...इस वनोपज से दो तिहाई आबादी को मिलती है दो वक्त की रोटी | Patrika News

World Forestry Day...इस वनोपज से दो तिहाई आबादी को मिलती है दो वक्त की रोटी

जिले में 20 किमी एरिया में बढ़ा जंगल, वन्य प्राणियों के लिए भी सुरक्षित टाइगर कारीडोर

छिंदवाड़ा

Updated: March 20, 2022 09:18:18 pm

छिंदवाड़ा.जिले के 39 फीसदी एरिया में बिखरे जंगल न केवल शुद्ध आबोहवा दे रहे हैं बल्कि दो तिहाई आबादी को महुआ, चिरौंजी समेत 52 प्रजाति की लघु वनोपज और जड़ी-बूटियों से रोजी-रोटी भी दे रहे हैं। ये जंगल पेंच नेशनल पार्क और सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के बीच बाघ समेत अन्य वन्य प्राणियों को सुरक्षित रास्ता देने के लिए वरदान है। विश्व वानिकी दिवस 21 मार्च को इस वन संपदा के लिए हर जिलेवासी को प्रकृति का न केवल आभार मानना चाहिए बल्कि इसके संरक्षण और संवर्धन का संकल्प भी लेना चाहिए।
इस बार इस दिवस की थीम हैं-वन और टिकाऊ उत्पाद और खपत। पहले यह भी बताते चलें कि फारेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में पिछले तीन साल के दौरान छिंदवाड़ा का जंगल का एरिया 20.12 वर्ग किमी बढ़ गया है। पहले जिले में कुल 11815 वर्ग किमी क्षेत्र में तीन साल पहले 2019 मेें 29.73 प्रतिशत हिस्से में जंगल था। अब फारेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया के नए सर्वेक्षण में वन क्षेत्र 39 प्रतिशत हो गया है। फिर जंगलों के उत्पाद पर चर्चा की जाए तो महुआ, चिरौंजी समेत अन्य लघु वनोपज लाखों वनवासियों को रोजी-रोटी दे रही है।
....
जिले में ये वनोपज और जड़ी-बूटियों का भंडार
जिले में 53 वानिकी प्रजातियां सूचीबद्ध हैं। सहज रूप से उपलब्ध प्रजातियों में महुआ, तेन्दू, आचार, चिरोटा/चिरायता, कालमेघ,आम, वन तुलसी,बहेड़ा, जामुन, अर्जुन और बीजा है। खतरे में आई प्रजातियों में आंवला, कुल्लू, सतावर, बेल,भू-आंवला, वन प्याज, सलई, काली मूसली, वन हल्दी और नागर मोथा है। शेष 33 प्रजातियों में गिलोय, अनन्तमूल, कडुजीरा, कल्ला/ सुवारूख, कुसुम, के वकन्द, खैर, गुंजा, गुड़मार, गोखर, चिरोंजी, जंगली अदरक, जंगली कोसा, जंगली रसून, दुधी, धावड़ा, निर्गुन्डी, पारिजात / हर सिंगार, पिस्तापनी, बजरंग बूटी, बायविरंग, मरोडफ़ली, माहुलमेनर, मैदा, मालकंगनी, रतनजोत,रोहन, सफेद मूसली, सर्पगंधा, साजा,सीताफल एवं हल्दू है। ये वन प्रजातियां जड़ी-बूटियां के उपयोग आती है तो वहीं आम जनजीवन के आहार का हिस्सा भी है। इनकी खपत देश-विदेश में होती रही है।
...
इनका कहना है..
जिले की वनसंपदा प्राकृतिक दृष्टि से ही महत्वपूर्ण नहीं बल्कि लाखों आदिवासियों को रोजी-रोटी देती हैं। इसके प्रति वन अधिकारियों के साथ हर आम नागरिकों को संवेदनशील होना चाहिए। तभी हम इसे सुरक्षित और संरक्षित रख पाएंगे।
-रविन्द्र सिंह, वृक्षमित्र एवं समाजसेवी।
...

van.jpg

वनों के प्रबंधन के लिए अब सामुदायिक वन प्रबंधन समितियों का गठन का प्रस्ताव किया गया है। इन्हें वन्य प्राणी, सघन वन, बिगड़े वन में जनभागीदारी सुनिश्चित होगी। समितियों को वनोपज आय की राशि का 20 प्रतिशत हिस्सा दिया जाएगा।
-ईश्वर जरांडे, डीएफओ पश्चिम वन मण्डल।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...BOXER Died in Live Match: लाइव मैच में बॉक्सर ने गंवाई जान, देखें वायरल वीडियोBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर, उठाया आतंकवाद का मुद्दासीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मीIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखVirat Kohli की कप्तानी पर दिग्गज भारतीय क्रिकेटर ने उठाए सवाल, कहा-खिलाड़ियों का समर्थन नहीं कियादिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.