scriptYou will be shocked to know, this is the real reason for high temperat | जानकर चौंक जाएंगे आप,यह हैं ज्यादा तापमान की असली वजह | Patrika News

जानकर चौंक जाएंगे आप,यह हैं ज्यादा तापमान की असली वजह

दो साल के लॉक डाउन के बाद दुगनी गति से चले उद्योग और व्यवसाय तो तापमान ने निकाला पसीना

छिंदवाड़ा

Published: April 11, 2022 09:10:20 pm

छिंदवाड़ा. पिछले दो साल 2020 और 2021 के अप्रैल से जून माह तक कोरोना संक्रमण हावी रहा। इस दौरान सरकारी लॉक डाउन और प्रतिबंध के चलते लोग घरों से नहीं निकले। तीसरे साल 2022 में सब कुछ खुला तो गर्मी के तीखे तेवर से आम आदमी पसीने से तर हो रहा है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी मान रहे है कि कोरोना के बाद दुगनी गति से औद्योगिक गतिविधियां, वाहनों से कार्बन उत्सर्जन, कांक्रीट के बढ़ते जंगल और पेड़ों की लगातार कटाई जैसे कारण से गर्मी के तीखे तेवर देखने को मिल रहे हैं। मई में तापमान 45 डिग्री तक पार सकता है।
बोर्ड के मुताबिक कोरोना संक्रमण के चलते दो साल में आम आदमी आग उगलते सूरज की गर्मी सड़क पर महसूस करना ही भूल गया था। इस दौरान औद्योगिक, वाणिज्यिक गतिविधियां और वाहनों का संचालन भी बंद रहा। ये गतिविधियां ही कार्बन उत्सर्जन और तापमान में वृद्धि के प्रमुख कारक में एक हैं। इसके चलते तापमान अपेक्षाकृत कम रहा। अब जबकि उद्योग से लेकर व्यवसायिक गतिविधियां पूरी रफ्तार पर हैं। तब छिंदवाड़ा ही नहीं, पूरे देश-प्रदेश से तापमान में वृद्धि की खबरें आ रही हैं।
....
पेड़ों की कटाई के साथ क्रांकीट के जंगल
अस्सी और नब्बे के दशक में नागपुर, सिवनी, बैतूल, परासिया, नरसिंहपुर समेत शहर के अंदरुनी मार्ग पर आम, नीम, जामुन के पेड़ों की बहुतायत होने पर गर्मी का तापमान 35 डिग्री से अधिक नहीं होता था। पिछले तीन दशक में तस्वीर ठीक उलट हैं। अप्रैल का तापमान 42 डिग्री पहुंच गया है। विकास की गति में पेड़ भेंट चढ़ गए। इसके साथ उद्योग, व्यापार-व्यवसाय के साथ वाहनों की संख्या सड़क में चौगुनी है। शहर के अंदर हर महीने नई बिल्डिंग और माल खड़े हो रहे हैं। जिसमें सीमेंट का अंधाधुंध उपयोग हो रहा है।
...
शहर में बढ़ते तापमान के ये कारण भी
1. कोरोना संक्रमण के समाप्त होने पर औद्योगिक इकाइयां पूरे रफ्तार से चल रही है। उद्योग संचालन भी तापमान में वृद्धि के लिए जिम्मेदार है।
2. पिछले एक दशक में नेशनल हाइवे समेत राजमार्ग के निर्माण में पेड़ों की कटाई हुई। इसकी तुलना में पौधे कम लगाए गए। उनके पेड़ बनने में कम से कम 20 साल लगेंगे। पेड़ न होने से सूरज की गर्मी सीधी पड़ रही है।
3.उद्योग और व्यवसाय संचालन से सड़कों पर हजारों ट्रक, बसें और छोटे वाहन दौड़ रहे हैं तो एयर कंडीशनर समेत अन्य उपकरणों से कार्बन उत्सर्जन ज्यादा हो रहा है।
4.शहरों में सीमेंट-रेत से हर दिन नई बिल्डिंग और माल तैयार हो रहे हैं तो वहीं सीमेंट सड़कों का जाल भी बिछा हैं। विकास की यह गति पर्यावरण पर भारी पड़ रही है।
5.नरसिंहपुर, नागपुर और बैतूल हाइवे निर्माण के दौरान घाटियों और पेड़ों को काट दिया है। इससे उत्तर-दक्षिण भारत की गर्म हवाएं रुक नहीं पा रही है। ये हवाएं सीधे शहर को प्रभावित कर रही हैं।
....
इनका कहना है..
पिछले दो साल की गर्मी कोरोना संक्रमण की लॉक डाउन में बीती। तीसरे साल उद्योग, व्यापार, व्यवसाय, वाहन संचालन की गतिविधियां तेज होने से तापमान में वृद्धि हुई है। सड़क प्रोजेक्ट में पेड़ों की कटाई भी जिम्मेदार है।
-डॉ.अविनाश चंद्र करेरा,क्षेत्रीय अधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड।
...

सूरज दिखाने लगा अपना तेवर लोगो को चुभने लगी सूरज की तपन
सूरज दिखाने लगा अपना तेवर लोगो को चुभने लगी सूरज की तपन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.