बबुली गैंग और पुलिस में मुठभेड़, 50 हजार का इनामी डकैत गिरफ्तार

Ashish Pandey

Publish: Aug, 12 2018 10:15:29 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India

चित्रकूट. पाठा का बीहड़ एक बार फिर उस समय गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा जब साढ़े पांच लाख के इनामी कुख्यात डकैत बबुली कोल से पुलिस की भीषण मुठभेड़ हुई। करीब एक घण्टे तक दोनों तरफ से गोलियों की बारात होती रही। इस दौरान दस्यु सरगना बबुली खाकी की गोलियों का निशाना तो न बन सका, लेकिन गैंग के एक हार्डकोर इनामिया सदस्य को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। बीहड़ में गैंग के विलीन होने के बाद खाकी का सर्च ऑपरेशन जारी है। पिछले वर्ष भी अगस्त के महीने में दस्यु बबुली से मुठभेड़ के दौरान 50 हजार का इनामी डकैत शारदा कोल मारा गया था।

गैंग की घेरेबंदी के दौरान हुई मुठभेड़
जनपद के मानिकपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत कल्याणगढ़ करौंहा जंगल में दस्यु बबुली के होने की सूचना पर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार झा व अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी के संयुक्त नेतृत्व में घरेबन्दी के दौरान खाकी की आहट पर गैंग ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी मोर्चा संभालते हुए डकैतों के ऊपर गोलियों की बौछार की। दोनों तरफ से करीब दो घण्टे तक ताबड़तोड़ फायरिंग हुई।

गिरफ्तार हुआ इनामी डकैत
लगभग दो घण्टे तक चली मुठभेड़ के बाद अचानक फायरिंग बंद होने पर जब पुलिस ने जंगल में सर्च ऑपरेशन शुरू किया तो उस दौरान गैंग का हार्डकोर मेंबर 50 हजार का इनामी डकैत जंगलिया उर्फ पंजाबी खाकी के हत्थे चढ़ गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार डकैत के पास से एक राइफल (315 बोर) व आधा दर्जन से अधिक जिंदा कारतूस बरामद हुए जबकि मुठभेड़ स्थल से थर्टी स्प्रिंग राइफल का एक कारतूस एक जिंदा व 2 खोखा और 12 बोर राइफल के 3 जिंदा व 5 खोखा कारतूस बरामद हुए। बबुली गैंग के इस डकैत के ऊपर जनपद के मानिकपुर, मारकुंडी व बहिलपुरवा थाने में हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण, पुलिस मुठभेड़ जैसे संगीन वारदातों के दर्जन भर से अधिक मुकदमें दर्ज हैं। गिरफ्त में आया डकैत जंगलिया उफऱ् पंजाबी दस्यु बबुली का खास सिपहसलार माना जाता था।

बीहड़ में विलीन हुआ गैंग
पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार झा ने मुठभेड़ स्थल पर ब्रीफिंग करते हुए बताया कि बबुली गैंग मुठभेड़ के दौरान जंगल की ओर भागा है। गैंग में करीब 5 से 6 लोग हैं जिनके पास थर्टी स्प्रिंग राइफल जैसे अत्याधुनिक हथियार भी हैं। पुलिस लगातार गैंग की तलाश में सर्च ऑपरेशन चला रही है।
पिछले वर्ष भी हुई थी मुठभेड़ मारा गया था 50 हजार का इनामी
पिछले वर्ष (2017) 24 अगस्त को भी दस्यु बबुली गैंग से पुलिस की भीषण मुठभेड़ मानिकपुर के जंगल में हुई थी, जिसमें एसआई जेपी सिंह शहीद हो गए थे। मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने भी गैंग के 50 हजार के इनामी डकैत शारदा कोल को मार गिराया था।

Ad Block is Banned