आकाशीय बिजली का कहर तीन किसानों की मौत मवेशी भी झुलसे

घटना के बाद मृतकों के परिजनों में कोहराम मचा है.

By: Neeraj Patel

Published: 16 Sep 2020, 12:38 AM IST

चित्रकूट: मौत के रूप में आसमान से कहर बनकर टूटी आकाशीय बिजली ने तीन किसानों को मौत की आगोश में पहुंचा दिया. घटना के बाद मृतकों के परिजनों में कोहराम मचा है. प्रशासन ने पीड़ित परिवारों को मदद का आश्वासन दिया है. मृतक के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है.


जनपद में मंगलवार को आकाशीय बिजली ने तीन किसानों की जीवन लीला समाप्त कर दी. इस आसमानी कहर में तीन लोग झुलस भी गए जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है. पहली घटना है जनपद के मऊ थाना क्षेत्र अंतर्गत इटवा की. जानकारी के मुताबिक उक्त गांव निवासी किसान मो. सुल्तान (50) अपने खेत में अपनी में 5 वर्षीय पौत्री शानू के साथ खाद डालने गया था. उसी दौरान आकाशीय बिजली उनपर मौत बनकर टूटी और दोनों चपेट में आ गए जिससे सुल्तान की मौत हो गई. पौत्री शानू झुलस गई. जिसे इलाज के लिए भर्ती कराया गया। तहसीलदार मऊ संजय अग्रहरि ने मौके पर जाकर घटना की पूरी जानकारी लेकर शासन से मिलने वाली आर्थिक मदद का भरोसा दिया. मृतक के पांच पुत्रियां व तीन पुत्र हैं.


उधर जनपद के मानिकपुर विकासखंड के गढ़चपा गांव में खेत पर खाद छिड़कते समय अचानक बिजली गिरने से किसान विनीत कोल कि मौके पर मौत हो गई. घटना से परिजनों में कोहराम मच गया. मृतक के दो पुत्रियां व एक पुत्र है. थानाप्रभारी मानिकपुर केके मिश्र ने बताया कि पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम कराया है.

वहीं इसी तरह की एक अन्य घटना में जिले के रैपुरा थाना क्षेत्र के लौढिहामाफी गांव के पास बिजली की चपेट में आने से किसान नत्थू प्रसाद की मौत हो गई. उसकी दो भैंस भी काल के गाल में समा गईं. थाना प्रभारी सुशील चंद्र शर्मा ने बताया कि किसान नत्थू अपनी भैंस को लेकर गांव की ओर आ रहा था. तभी अचानक बारिश होने पर वह एक पेड़ के नीचे खड़ा हो गया. इसी बीच बिजली गिरने से उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी होने पर परिजनों में कोहराम मच गया

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned