राजबब्बर की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फूंका सीएम योगी का पुतला

राजबब्बर की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने फूंका सीएम योगी का पुतला
Chitrakoot Congress

Shatrudhan Gupta | Updated: 24 Sep 2017, 09:48:53 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

कांग्रेसियों का कहना था कि छात्र-छात्राओं पर आधी रात में बेरहमी से लाठीचार्ज पुलिस प्रशासन के तानाशाही रवैए को दर्शाता है।

चित्रकूट. काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के बवाल की आग में राजनीति के घी की आहुति दी जाने लगी है। बीएचयू में छात्र-छात्राओं पर शनिवार रात लाठीचार्ज तथा वाराणसी पहुंचे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस ने रविवार को उग्र प्रदर्शन कर सीएम योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका। कांगे्रस कार्यकर्ताओ ंने धरना-प्रदर्शन कर जुलुस निकाला। कांग्रेसियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वाराणसी पुलिस प्रशासन के ऊपर तानाशाही रवैये का आरोप लगाया। प्रदर्शनकारी कांंग्रेसी अपने अध्यक्ष की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए इसे लोकतंत्र में आवाज को दबाना बताया और यूपी सीएम योगी का पुतला फूंका। कांग्रेसियों का कहना था कि छात्र-छात्राओं पर आधी रात में बेरहमी से लाठीचार्ज पुलिस प्रशासन के तानाशाही रवैए को दर्शाता है। धरनारत छात्राओं से बीएचयू प्रशासन व जिला प्रशासन ठीक तरीके से भी वार्ता कर सकता था, लेकिन उन्होंने उदासीनता बरती और बेरहमी से छात्रों पर बल प्रयोग किया।

मालूम हो कि बीएचयू में छेडख़ानी के खिलाफ धरने पर बैठीं छात्राओं पर पुलिसिया कहर और इसके विरोध में वाराणसी पहुंचे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर की गिरफ्तारी को लेकर विरोध स्वरूप आग बबूला कांग्रेसियों ने चित्रकूट में मुख्यालय स्थित पटेल तिराहे पर धरना-प्रदर्शन करते हुए बीएचयू, वाराणसी जिला प्रशासन तथा प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पटेल तिराहे पर धरनारत कांग्रेसियों ने जुलुस निकालते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका। कांग्रेस जिलाध्यक्ष सहित कई कांग्रेसियों ने अपने प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी को प्रशासन का तानाशाही रवैया बताया।

वाराणसी में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर की गिरफ्तारी की खबर जैसे ही कांग्रेसियों को मिली, वे प्रदर्शन के मूड में आ गए। पार्टी कार्यकर्ताओं ने पटेल तिराहे पर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। कुछ देर बाद सीएम योगी का पुतला दहन किया गया। पार्टी जिलाध्यक्ष पंकज मिश्रा ने कहा कि वाराणसी जिला प्रशासन और पुलिस का यह कृत्य घोर निंदनीय है और बीएचयू प्रशासन की लापरवाही की जितनी निंदा की जाए कम है। विश्वविद्यालय प्रशासन यदि चाहता तो मामला सुलझाया जा सकता था और जब छात्र-छात्राओं के ऊपर बर्बतापूर्वक लाठियां बरसाई जा रही थीं तो उस समय जिले के आला अधिकारी उनके बीच क्यों नहीं पहुंचे? जिलाध्यक्ष ने कहा कि उनके प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned