तपोभूमि में "कोरोना" की दस्तक तीन प्रवासी मजदूर पॉजिटिव प्रशासन के माथे पर बल

तीन प्रवासी मजदूरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से प्रशासन के माथे पर बल पड़ गए हैं.

चित्रकूट: तपोभूमि में भी कोरोना की इंट्री हो गई है. तीन प्रवासी मजदूरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से प्रशासन के माथे पर बल पड़ गए हैं. तीनों मरीजों को इलाज हेतु बांदा मेडिकल कॉलेज भेजा गया है. इसके अलावा तीनों के गांवों को भी सील कर दिया गया है. जनपद में तीन पॉजिटव केस मिलने के बाद थोड़ी खलबली भी मच गई है. चूंकि जिले का 80 प्रतिशत से अधिक इलाका ग्रामीण परिवेश में आता है और वर्तमान समय में प्रवासी मजदूरों का लौटना जारी है इसलिए प्रशासन के लिए कई चुनौतियां उत्पन्न हो गई हैं. फिलहाल डीएम व एसपी ने मातहतों को ढिलाई न बरतने के निर्देश दिए हैं.

भगवान श्री राम की तपोभूमि चित्रकूट में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से प्रशासन सकते में आ गया है. लॉकडाउन के पालन को लेकर हर स्तर पर कड़ाई का दावा करने वाले जिला प्रशासन को तब झटका लगा जब प्रवासी तीन मजदूरों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई. ये तीनों मजदूर हाल ही में महाराष्ट्र से लौटे थे. जिनमें दो मुम्बई व एक नासिक से लौटा था. तीनों मरीजों में 2 जनपद के राजापुर थाना क्षेत्र के बरद्वारा गांव के रहने वाले हैं जबकि एक जिले के भरतकूप थाना क्षेत्र के पतौड़ा गांव का है. रिपोर्ट पॉजिटव आने के बाद तीनों के गांव को सील कर दिया गया है.


उधर कोरोना की इंट्री होने के बाद जिले के आला अधिकारीयों ने मातहतों को किसी तरह की ढिलाई न बरतने के निर्देश दिए हैं. हालांकि जनपद का अधिकांश क्षेत्र ग्रामीण परिवेश में आता है. इन इलाकों में निगहबानी अब प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कम नहीं.

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned