बुजुर्ग दंपत्ति की धारदार हथियार से हत्या, इलाके में सनसनी

बुजुर्ग दंपत्ति की धारदार हथियार से हत्या, इलाके में सनसनी
Murder of elderly couple

Shatrudhan Gupta | Updated: 12 Dec 2017, 10:36:15 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

घर में सो रहे बुजुर्ग दंपत्ति पर धारदार हथियार से वार कर मौत के घाट उतार दिया गया।

चित्रकूट. घर में सो रहे बुजुर्ग दंपत्ति पर धारदार हथियार से वार कर मौत के घाट उतार दिया गया। किस्मत का धनी चार वर्षीय मासूम नाती हत्यारों के कहर से बच गया, जो बुजुर्ग दंपत्ति के साथ सो रहा था। हत्यारे हथियार छोड़ मौके से फरार हो गए। पुलिस ने मौके पर पहुंच घटनास्थल का जायजा लेते हुए जांच पड़ताल शुरू कर दी है। फ़िलहाल हत्या के ठोस कारणों का पता नहीं चल पाया है। प्रथम दृष्टया पैसों के लेन देन को लेकर घटना को अंजाम देना पुलिस के संज्ञान में आया है। सुराग के तौर पर वो हथियार जरूर खाकी के हाथ लगा है, जिससे बेरहमी से वार कर दंपत्ति को मौत की आगोश में पहुंचाया गया।

जनपद के मानिकपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत निही गांव में उस समय सनसनी फ़ैल गई जब बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या की खबर जंगल में आग की तरह पूरे इलाके में फ़ैल गई। घटना की जानकारी के अनुसार गांव के छोटा कोल (60) अपनी पत्नी भोंदी कोल (55) के साथ खेत में ही झोपडी बनाकर रहते थे। सोमवार देर रात दोनों की कुल्हाड़ी से वार कर बेरहमी से हत्या कर दी गई।

बेरहमी से की गई हत्या

बुजुर्ग दंपत्ति को बेरहमी से कुल्हाड़ी से काटा गया और उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया। घटनास्थल के हालात बयां कर रहे थे कि हत्यारे कितने बेरहम थे। खून से सनी कुल्हाड़ी हत्यारे दोनों के शवों के पास ही छोड़ गए। पुलिस के पास कुल्हाड़ी के तौर पर ही मामले तफ़्तीश करने का रास्ता अभी प्रथम दृष्टया नजर आ रहा है। घटनास्थल पर पहुंचे एसपी व एएसपी ने लोगों से पूछ ताछ की लेकिन कोई ठोस जानकारी फ़िलहाल ख़ाकी को नहीं मिल पाई है। अपर एसपी प्रताप बलवन्त चौधरी ने बताया कि मृतक दंपत्ति के पुत्र ने पैसों के कुछ लेन देन की बात बताई है तो हो सकता है कि वो भी वजह हो घटना कि बहरहाल अभी स्पष्ट वजह पता नहीं चल पाई है जांच की जा रही है।

बच गया मासूम

कुल्हाड़ी से वार कर बेरहमी से मौत के घाट उतारे गए बुजुर्ग दंपत्ति के चार वर्षीय मासूम नाती को किस्मत ने बचा लिया। वारदात के समय मासूम चुपचाप रजाई के नीचे दुबका रहा। डरा सहमा मासूम नाती बउआ अपने बाबा की लाश के नीचे रात भर दबा रहा। सुबह ग्रामीणों को जब जानकारी हुई तो उन्होंने मासूम को बाहर निकाला। मृतक दंपत्ति के चार पुत्र हैं और सभी काम धंधे के लिए बाहर रहते हैं। घर में जिन्दा बच गया पोता और मृतक बुजुर्ग दंपत्ति रहा करते थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned