आग का कहर: लपटों ने दर्जन भर आशियानों को जलाकर किया खाक, लाखों की गृहस्थी राख

सूरज के तल्ख़ तेवरों और उसपर हवा की सरगर्मी ने चिंगारियों को लपटों के रूप में बदलने को मजबूर कर दिया है।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 25 Apr 2018, 07:10 AM IST

चित्रकूट. सूरज के तल्ख़ तेवरों और उसपर हवा की सरगर्मी ने चिंगारियों को लपटों के रूप में बदलने को मजबूर कर दिया है। छोटी सी चिंगारी हवा का इशारा पाकर भयंकर लपटों में तब्दील हो जा रही है। खासतौर पर ग्रामीण इलाकों में आग के कहर से आए दिन लाखों की गृहस्थी खाक हो जा रही है। ऐसी ही एक घटना में चिंगारी से भड़की आग की लपटों ने दर्जन भर घरों को अपनी आगोश में लेते हुए सब कुछ जलाकर राख कर दिया जबकि गनीमत रही कि कोई इन लपटों में हताहत नहीं हुआ, अलबत्ता दो बेजुबान(भैंस और उसका बच्चा) लपटों में घिरकर झुलस गए लेकिन किसी तरह उन्हें बचा लिया गया। अनुमान के मुताबिक 5 से 6 लाख तक की गृहस्थी खाक हो गई लपटों की आगोश में आकर। ग्रामीणों के प्रयास के दौरान मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने किसी तरह लपटों पर काबू पाया।

ग्रामीण इलाकों में आग का तांडव जारी है। आए दिन आग लगने की घटनाओं से लोगों की गाढ़ी कमाई से बनाई गई गृहस्थी स्वाहा हो रही है। जनपद के मऊ थाना क्षेत्र अंतर्गत खण्डेहा गांव के मजरे पटीहासन का पुरवा में आग लगने से दर्जन भर घर जलकर खाक हो गए। घटना की जानकारी के मुताबिक छोटेलाल नाम के ग्रामीण के घर से भड़की लपटों ने देखते ही देखते अन्य घरों को भी अपनी आगोश में ले लिया और फिर विकराल रूप धारण करते हुए सबकुछ तबाह कर दिया। गनीमत रही कि अधिकांश लोग खेतों में काम करने गए थे।

ऊंची उठती लपटों को देखकर ग्रामीणों में चीख पुकार मच गई और किसी तरह उन्होंने आग पर काबू पाने का प्रयास किया। इस बीच फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। चिर परिचित अंदाज में काफी देर बाद पहुंची फायर ब्रिगेड ने किसी तरह लपटों पर काबू पाने का प्रयास शुरू किया। इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने फायर ब्रिगेड कर्मियों को खरी खोटी भी सुनाई।

घटना में लगभग 14 परिवारों के आशियाने एकदम स्वाहा हो गए और गृहस्थी भी पूरी तरह नष्ट हो गई। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंचे मऊ एसडीएम राममूर्ति त्रिपाठी ने बताया कि नुकसान का आंकलन करके पीड़ितों को यथा सम्भव सहायता दी जाएगी। फ़िलहाल कोई हताहत नहीं हुआ है अलबत्ता घर गृहस्थी तबाह हो गई है।

 

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned