तेज आंधी तूफान का कहर, एक बालिका की मौत और एक किशोरी घायल

तेज आंधी तूफान का कहर, एक बालिका की मौत और एक किशोरी घायल

Akanksha Singh | Publish: Jun, 14 2018 11:38:48 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

तेज आंधी तूफान का कहर, एक बालिका की मौत और एक किशोरी घायल

चित्रकूट. जनपद में तेज तूफान ने जन जीवन अस्त व्यस्त कर दिया है, कई जगह पेड़ गिरने से आवागमन बाधित हुआ है, खासकर ग्रामीण इलाकों में तेज आंधी का कहर कुछ ज्यादा रहा। मानिकपुर इलाके में आंधी के दौरान एक घर पर पेड़ गिरने और उसकी चपेट में आने से एक बालिका की मौत हो गई जबकि एक किशोरी घायल हो गई। विद्युत व्यवस्था भी ग्रामीण इलाकों में पूरी तरह से चरमरा गई है।

कुदरत की नामिजाजी ने तेज आंधी तूफान के रूप में चित्रकूट में भी अपना कहर बरपाया हालांकि ज्यादा जानमाल का नुकसान तो नहीं हुआ परंतु कई जगहों पर भारी भरकम पेड़ गिरने व कच्चे घरों के टिन छप्पर उड़ने से लोगों को जरूर दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

एक की मौत एक घायल

तेज आंधी में एक बालिका की मौत हो गई जबकि एक घायल। घटना की जानकारी के मुताबिक मानिकपुर तहसील के रामपुर तरौंहा गांव में आंधी के दौरान कमलेश लोधी नाम के ग्रामीण के घर में भारी भरकम पेड़ गिर पड़ा जिसकी चपेट में आकर उसकी 8 वर्षीय पुत्री अमरावती की मौत हो गई। इसी तरह ऐंचवारा गांव में संजय नाम के व्यक्ति के कच्चे घर की टिन तेज आंधी में उड़ गई जिसकी चपेट में उसकी पुत्री 10 वर्षीय रोशनी आ गई और उसका पैर गम्भीर रुप से जख्मी हो गया। कई कच्चे घर पेड़ गिरने से ध्वस्त हुए हैं।

विद्युत् व्यवस्था भी चरमराई

आंधी ने ग्रामीण इलाकों में विद्युत् व्यवस्था को एक तरह से ध्वस्त कर दिया है। सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ मानिकपुर ब्लाक जहां के ऐंचवारा रानीपुर गिदुरहा आदि गांवों में तेज तूफान ने कहर ढाया। इन इलाकों में कई जगह पेड़ व् बिजली के पोल गिर गए हैं । विद्युत् विभाग इन्हें ठीक करने में लगा है।

आवागमन में बाधा

कर्वी मानिकपुर मार्ग पर कई स्थानों पर पेड़ बिजली के पोल गिरने से आवागमन में बाधा उत्पन्न हो रही है, बड़े वाहनों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मानिकपुर तहसील के कई ग्रामीण क्षेत्र जंगली इलाकों के बीच स्थित हैं सो तेज तूफान से इन इलाकों में कई पेड़ गिरे हैं जिससे गांव का सम्पर्क मुख्य मार्गों से एक तरह से कटा हुआ है। ग्रामीण किसी तरह पेड़ को रास्ते से हटाने का प्रयास कर रहे हैं।

कई बार बरपा आंधी का कहर

इस वर्ष अभी तक अप्रैल से लेकर जून के इस मध्यान्ह सीजन तक कई बार आंधी ने अपना कहर बरपाया है। कुदरत की ये नामिजाजी हर बार लोगों पर भारी पड़ती है। शहरी इलाके तो काफी हद तक झेल जाते हैं तेज तूफानों को लेकिन ग्रामीण इलाकों में लोगों को एक प्रकार से मौत का सामना करना पड़ता है। तूफान के साथ बारिश व् आकाशीय बिजली ने अब तक कई लोगों को मौत की आगोश में पहुंचा दिया है।

Ad Block is Banned