Tulsidas Jayanti : यहां रखी रामचरित मानस के दर्शन मात्र से ही हो दूर जाते हैं दुख, देखें वीडियो

Hariom Dwivedi

Updated: 07 Aug 2019, 07:40:46 PM (IST)

Chitrakoot, Chitrakoot, Uttar Pradesh, India

चित्रकूट. सावन का पवित्र महीना भगवान शिव (Lord Shiva) की आराधना का मास है। लेकिन, इस माह में भगवान श्रीराम के चरित्र का पाठ मानव के तमाम कष्टों को दूर कर देता है। सावन माह में ही श्रीरामचरितमानस के रचयिता संत शिरोमणि गोस्वामी तुलसीदास (Tulsidas)की जंयती पड़ती है। वह तिथि है 7 अगस्त। गोस्वामी तुलसीदास की हस्तलिखित यानि उनके द्वारा खुद लिखी गई श्री रामचरितमानस जो सैकड़ों साल पुरानी कृति आज भी सुरक्षित है। माना जाता है कि सावन माह में इस कृति के दुर्लभ दर्शन से ही मानव के सब कष्ट दूर हो जाते हैं। दूर-दूर से श्रद्धालु सावन माह में चित्रकूट आतेे हैं और रामचरित मानस का दर्शन कर शिव से जुड़ी चौपाइयों को गुनगुनाते हैं। वीडियो में देखें चित्रकूट से विवेक मिश्रा की स्पेशल रिपोर्ट

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned