यहां नहीं दिख रहा सरकार का खौफ, खनन माफिया बनने की राह पर इनामी डकैत

बीहड़ की दस्यु परम्पराओं से इतर पुलिस के लिए सिरदर्द बना सात लाख का इनामी डकैत बबुली कोल बीहड़ की दुनिया से ही अवैध खनन का काला कारोबार करना चाहता है और इस गोरखधंधे की शुरुआत भी उसने कर दी है। 

By: आकांक्षा सिंह

Published: 02 Jun 2017, 02:21 PM IST

चित्रकूट। बीहड़ की दस्यु परम्पराओं से इतर पुलिस के लिए सिरदर्द बना सात लाख का इनामी डकैत बबुली कोल बीहड़ की दुनिया से ही अवैध खनन का काला कारोबार करना चाहता है और इस गोरखधंधे की शुरुआत भी उसने कर दी है। पाठा के बीहड़ों में मुश्किल से मिलने वाले चूना पत्थर के कई पहाड़ हैं जो बाहर महंगे दामों पर बिकते हैं और इनके ठेकेदारों को मोटा मुनाफा होता है। बीहड़ के सूत्रों के मुताबिक़ गैंग की ताकत बढ़ाने के लिए कुख्यात डकैत बबुली कोल अब अपने सरंक्षणदाताओं के सहारे बीहड़ में अवैध खनन करवा रहा है। पुलिस के हत्थे चढ़े आधा दर्जन से अधिक लोगों ने इस बात का खुलासा किया कि डकैत बबुली अवैध खनन में उतर चुका है और उसका प्रयास है कि बीहड़ की वनसम्पदा पर उसका एकाधिकार हो जाए। पुलिस ने डकैत बबुली कोल द्वारा कराए जा रहे अवैध खनन में लिप्त एक ट्रक व आधा दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है जिनसे पूछताछ की जा रही है।


प्राकृतिक संसाधनों की अकूत दौलत से लबरेज बुंदेलखण्ड की वन सम्पदाओं पर अब खूंखार डकैतों की नज़र लग गई है. जी हां कुख्यात डकैत ददुआ ठोकिया बलखड़िया रागिया जहां अपने दहशत के समय में तेंदू पत्ता तोड़ने के दौरान करोङों का कमीशन लेते थे वहीँ इन सभी डकैतों का शागिर्द दस्यु बबुली कोल गैंग की ताकत बढ़ाने व् अकूत दौलत का मालिक बनने का मंसूबा लेकर अवैध खनन के क्षेत्र में उतर रहा है. बीहड़ में मौजूद कीमती लकड़ियां चूना पत्थर के पहाड़ आदि सभी महत्वपूर्ण प्राकृतिक सम्पदा पर इस खूंखार डकैत की नापाक निगाह पड़ चुकी है.


जनपद के मारकुंडी थाना अंतर्गत करौंहा जंगल के चूना पहाड़ पर पुलिस ने गश्त के दौरान आधा दर्जन से अधिक लोगों को उस समय गिरफ्तार किया जब वे सभी लोग एक ट्रक में भारी मात्रा में चूना पत्थर लादकर बाहर तस्करी करने जा रहे थे. गिरफ्तार लोगों से जब ख़ाकी ने पूछताछ की तो पुलिस के होश उड़ गए. पुलिस की गिरफ़्त में आए इन सभी अभियुक्तों ने खुलासा किया कि ये अवैध खनन डकैत बबुली कोल के इशारे पर हो रहा है और वे सभी बबुली के इशारे पर काम करते हैं. पकड़े गए अभियुक्तों ने पुलिस को बताया कि चूना पत्थर की सबसे ज्यादा मांग मध्य प्रदेश में रहती है इसलिए वहीं पर इस पत्थर की ज्यादा तस्करी भी होती है. अभियुक्तों के मुताबिक डकैत बबुली उन्हें मोटा कमीशन देने की बात कहकर अवैध खनन करवाता था और वे सभी कई बार कमीशन पा भी चुके हैं. इन सबके बीच सबसे गौर करने वाली बात यह कि डकैत बबुली के इस खेल में चित्रकूट बांदा व् मध्य प्रदेश के व्यक्ति शामिल थे जिन्हें पूरी भौगोलिक जानकारी होती थी कि वाहन किस रास्ते से और कहां से ले जाना है.


बीहड़ के सूत्रों के मुताबिक अवैध खनन का यह खेल डकैत बबुली कोल द्वारा कई महीनों से खेला जारहा है जिसकी जानकारी पुलिस की गिरफ्त में आए अभियुक्तों ने भी पुलिस को दी है. मगर गौर करने वाली बात यह कि कई महीनों से चल रहे अवैध खनन पर पुलिस की नजर पहले क्यों नहीं पड़ी और जबकी कई बार पुलिस व् गैंग से करौंहा के जंगल में मुठभेड़ हो चुकी है. इस पूरे मामले में एसपी प्रताप गोपेन्द्र का कहना है कि दस्यु बबुली कोल के खिलाफ अभियान तेज हो चुका है और उसके नेटवर्क को तोड़ने का पूरी तरह प्रयास हो रहा है. पुलिस की कई टीमें जंगलों में बराबर कॉम्बिंग कर रही हैं और गैंग से मुठभेड़ लेने के लिए तैयार हैं.

Show More
आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned